Share whatsapp Facebook Linkedin Twitter

मनमोहन सिंह के जन्म अवसर पर उनके बारे में विशेष लेख| जानिए डॉ मनमोहन सिंह के बारे में।

"पूर्व प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह का जन्म 26 सितंबर 1932 को पंजाब के एक प्रांत में हुआ था जो कि अभी पाकिस्तान में है मनमोहन सिंह ने देश की दिशा और दशा तय करने में अहम योगदान दिया है मनमोहन सिंह के भाषण से आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि मनमोहन सिंह हिंदी की अपेक्षा उर्दू बहुत अच्छे से पढ़ना लिखना जानते थे|""

2022-09-26 11:32:44

मनमोहन सिंह के जन्मदिन के बारे में एक दिलचस्प तथ्य यह है कि मनमोहन सिंह भले ही 26 सितंबर को अपना जन्मदिन मनाते हैं लेकिन यह दादी के साथ नहीं कहा जा सकता है कि उनका जन्म 26 सितंबर को ही हुआ है दरअसल बात यह है मनमोहन सिंह की जन्म की तारीख उनके परिवार में किसी को याद ही नहीं बहुत ही कम उम्र में मनमोहन सिंह ने अपनी मां को खो दिया था उनकी देखभाल दादी ने कि जब पहली बार वह स्कूल में प्रवेश किए तो मनमोहन सिंह की जन्म की तारीख 26 सितंबर लिखवाई गई इस वजह से मनमोहन सिंह का जन्मदिन 26 सितंबर 1932 को बताया जाता है

मनमोहन सिंह बचपन से ही शर्मीले थे उन्होंने पढ़ाई लिखाई में कभी कोताही नहीं बरती पाकिस्तान के पंजाब में जिस गाय इलाके में उनका परिवार रहा करता था वह इलाका बहुत ही पूछ रहा था गांव में बिजली थी और ना ही एक भी स्कूल था वह बहुत दूर तक पैदल चल कर पढ़ने जाया करते थे उनको देखने में बहुत परेशानी होती थी क्योंकि वह की रोशनी से जलने वाले लालटेन से अपनी पढ़ाई पूरी करते थे

आज मनमोहन सिंह को भारत और विश्व एक सफल अर्थशास्त्री और प्रधानमंत्री के तौर पर जानता है उन्होंने अपने शासनकाल में आर्थिक सुधारों के लिए बहुत ऐसे निर्णय लिए जो भारत के लिए बहुत अच्छा साबित हुआ उन्होंने प्रधानमंत्री के तौर पर 2004 में शपथ ली मगर उससे पहले वह आरबीआई के गवर्नर भी रह चुके थे और वह वित्त मंत्री की भी कार्यकाल को अच्छे से निभाया था और भारत को आर्थिक पिछड़ेपन से मुक्त कराया था

भले ही आज लोग उनको एक मौन प्रधानमंत्री कह देते हैं मगर वह एक बहुत ही अच्छे अर्थशास्त्री हैं उन्होंने अर्थशास्त्र के अलावा डॉ ऑफ लो डॉक्टर ऑफ सिविल लॉ ऑफ सोशल साइंस जैसी डिग्री या भी हासिल की मनमोहन सिंह को बहुत से विश्वविद्यालयों से डॉक्टर की उपाधि भी प्राप्त है मनमोहन सिंह को कैंब्रिज और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के दौरान अच्छे प्रदर्शन के लिए राइट्स प्राइस भी दिया गया था

मनमोहन सिंह को 1987 में पदम विभूषण से भी सम्मानित किया गया हम कामना करते हैं कि मनमोहन सिंह की उम्र लंबी बनी रहे और वह देश की सेवा करने का मौका मिले तो आगे भी देश की सेवा करते रहे