Share whatsapp Facebook Linkedin Twitter

क्या है ऋषिकेश में रहने वाली अंकिता भंडारी के मर्डर का सच ?


"उत्तराखंड के लक्ष्मण झूला इलाके में स्थित रिजॉर्ट से लापता होने के छह दिन बाद शनिवार को पुलिस ने अंकिता का शव नहर से बरामद किया।"

2022-09-26 10:31:39

उत्तराखंड के लक्ष्मण झूला इलाके में स्थित रिजॉर्ट से लापता होने के छह दिन बाद शनिवार को पुलिस ने अंकिता का शव नहर से बरामद किया। पुलिस ने 23 सितंबर को रिजाॅर्ट के मालिक पुलकित आर्य को गिरफ्तार किया, जो राज्य के पूर्व मंत्री विनोद आर्य का बेटा है। रिजॉर्ट मैनेजर सौरभ भास्कर और अंकित नाम के एक अन्य व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के मुताबिक इन तीनों ने पूछताछ में कथित तौर पर एक विवाद के बाद अंकिता को नहर में धकेलने की बात कबूल की है। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि पुलिस को अब ऐसे सबूत मिले हैं, जो बताते हैं कि आरोपी कथित तौर पर रिजाॅर्ट में कुछ मेहमानों कोविशेष सेवाएं  प्रदान करने के लिए अंकिता पर दबाव डाल रहे थे और जब उसने विरोध किया तो उसे मार दिया गया।

पांच दिनों से लापता अंकिता भंडारी की नहर में धकेल कर हत्या की गई। यह खुलासा करते हुए पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर रिजॉर्ट के संचालक पूर्व राज्यमंत्री के बेटे रिजॉर्ट संचालक पुलकित आर्य उसके दो मैनेजरों को गिरफ्तार कर लिया।

पूर्व राज्यमंत्री का बेटा और मुख्य आरोपी पुलकित आर्य पर  मौजूद भीड़ ने घूंसे, पत्थर और चप्पल बरसा रही थी, लेकिन वह घबराने की बजाय उल्टा लोगों पर अंदर से घूंसों से वार कर रहा था। इससे भीड़ का गुस्सा और बढ़ गया। वह अंदर से ही गाली गलौच भी कर रहा था। लोगों से पिटने के बाद भी उसके चेहरे पर डर और अपने जुर्म का पछतावा नजर नहीं रहा था।

अंकिता का शव मिलने के बाद उसे पोस्टमार्टम के लिए ऋषिकेश के AIIMS में भेजा गया था। लोगो का भीड़ वहा बहुत ही बड़ी मात्रा में मौजूद थी और मौजूदा भीड़ आरोपियों को फांसी देने की मांग कर रहे थे। लोगो ने जगह जगह विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है।

आरोपी पुलकित आर्य भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटा है और उसके इस आरोप के बाद पार्टी ने विनोद आर्य को पार्टी से निकाल दिया है। अंकिता मर्डर केस में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

 • कारण :

ऋषिकेश के रहने वाली अंकिता भंडारी एक गरीब परिवार की लड़की थी। अपने पढ़ाई के दौरान उसने एक रिसॉर्ट में नौकरी करना शुरू की हुई थी। कुछ दिन काम करने के बाद उसे अनकंफर्टेबल फील हो रहा था, और इस बात का जिक्र उसने अपने दोस्त से हुई बातचीत में की हुई थी। एक दिन रिसॉर्ट का मैनेजर उसे बोला की रिसॉर्ट में एक खास vip गेस्ट आने वाले है और तुम्हें उन्हें सर्विस देना है। उनके बातो में स्पेशल सर्विस देने की बात कही गई थी जिसका मतलब अंकिता की आने वाले मेहमान के साथ सेक्सुअल रिलेशन बनाना था। यह बात उसे खटकने लगी और उसने मैनेजर को साफ तौर पर माना कर दिया पर मैनेजर उसे दस हजार रूपयो के लालच के साथ साथ प्रेशर बनाना शुरू कर दिया। अंकिता अपने दोस्त से यह बात बताई की उसे रिसॉर्ट में ऐसे कामों के लिए दबाव बनाया जा रहा है।