Share whatsapp Facebook Linkedin Twitter

स्वास्थ संबंधित क्षेत्र में कंप्यूटर का उपयोग । (Use of computer in the field of health)

"स्वास्थ संबंधित चिकिस्ता में कंप्यूटर का अत्यधिक योगदान है क्योंकि अनेकों ऐसे कार्य होते हैं स्वास्थ संबंधित जो कि कम्प्यूटर द्वारा ही किया जाता है|""

2022-09-26 17:28:01

स्वास्थ संबंधित चिकिस्ता में कंप्यूटर का अत्यधिक योगदान है क्योंकि अनेकों ऐसे कार्य होते हैं स्वास्थ संबंधित जो कि कम्प्यूटर द्वारा ही किया जाता है।

अस्पताल :–

ईआरपी (ERP) जैसे विशेष सॉफ्टवेयर को अस्पताल में परिचालन गतिविधियों को स्वचालित करने के कार्यों में लिया जाता है जिनके कुछ उदाहरण ये हैं

जैसे – 

(1) ऑनलाइन अपॉइंटमेंट ली जा सकती है

(2) रोगी के बारे में विशेष जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

(3) रोगी किस स्थिति में है ये पता लगाया जा सकता है।

(4) रोगी के निगरानी के साथ साथ अस्पताल से सम्बन्धित  गतिविधियां शामिल होती हैं, जो कि कम्प्यूटर द्वारा ही किया जाता है।

शल्य चिकित्सा :–

कंप्यूटर के आधुनिक  मशीनों द्वारा  करने के लिए होता है यह द्वारा रोगी के शरीर के अंदर चीरा लगा कर एक छोटा सा शल्य उपकरण जिस में  कैमरा संलग्न होता है उसे डाला जाता है। जिस से मरीज को बड़े घाव की जटिलताओं का भुगतान ना करना पड़े और इन उपकरणों की वजह से डॉक्टर रोगी के शरीर के अंदर की चीजों को देख सकता है जो की डॉक्टर को एक अच्छी शल्य चिकिसता करने में मदद करता है

  कंप्यूटर नियंत्रित सर्जरी से डॉक्टर रोगियो के जीवन को डॉक्टर बचा सकता है विडियो नेटवर्किंग और वास्तविक समय में महत्वपूर्ण आंकड़े की निगरानी सुरक्षित तथा सटीक सर्जरी को ऑन-स्टाफ डॉक्टर क्रमचारियों या छात्रों द्वारा संचालित करने में मदद मिलती है

टेलीमेडिसिन का इस्तेमाल एक दुरी पर  सुचना प्रोद्योगिकी द्वारा क्लिनिकल स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने के लिए किया जाता है। इसे से दुरी की बाधाओं को खत्म करने और चिकित्सा सेवाओं को अक्सर दूर के ग्रामीण समुदायों में लगातार उपलब्ध करने तथा क्रिटिकल केयर और आपात स्थितियों में जान बचाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। टेलीमेडिसिन प्रारंभिक रूपों में टेलीफोन और रेडियो के साथ की जाती थी लेकिन अब इसे विडियो टेलीफोनी, एडवांस्ड डायग्नोस्टिक मेथोड्स और डिस्ट्रिब्यूटेड क्लाइंट सर्वर एप्लीकेशन के साथ उपयोग में लिया जाता है।

 डायग्नोस्टिक:–

रेडियोलॉजी तकनीकी एडवांसमेंट तरीके से एक्सरे तथा इमेजिंग सेवाओं का सुविधा उपलब्ध है। 

एक्स-रे और C.T. (Computed Tomography) स्कैन का उपयोग कर एक मरीज की आतंरिक सरंचना तथा असामान्यताओं को खोजने के लिए इमेजों का उत्पादन करता है। एक्स-रे एक से रोगी की आतंरिक सरंचना को देखने की सुविधा प्राप्त होती है यही दूसरी तरफ सीटी स्कैन कंप्यूटर प्रोद्योगिकी का उपयोग करता है जिस से कई एक्स-रे एमेजों को कई दो आयामी एक्सरे इमेजे होते हैं

मेडिकल लैब:–

मेडिकल लैब में कंप्यूटरों ने मेडिकल टेस्ट्स जैसे

   1 – ब्लड,

   2 – मूत्र,

   3 – तरल पदार्थ,

   4 – ऊतकों इत्यादि , को स्वचालित बनाकर  बनाया है और टेस्ट की गुणवत्ता में वृद्धि की गई है। आज के समय में ऐसी स्वचालित मशीन उपलब्ध है जो मेडिकल परिक्षण में काफी बड़े पैमाने पर तेजी से काम कर रही है। और अब उपलब्ध उपकरणों से घर पर भी स्वास्थ्य की निगरानी कर सकते हैं।

इसे भी जानें। 

5G नेटवर्क टेक्नोलॉजी क्या है? क्या 5G मानव के स्वास्थ्य के लिए खतरा है?