Print Friendly, PDF & Email

रायपुर, छत्तीसगढ
विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर कांग्रेस दफ्तर में कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा और तोड़फोड़ की। रायपुर स्थित प्रदेश पार्टी मुख्यालय में गुरुवार रात को टिकट घोषित होने के बाद कांग्रेस पार्टी के दावेदारों, जिनको टिकट नहीं मिला, उन्होंने अपनी नाराजगी का इजहार किया और प्रदर्शन के बाद तोडफ़ोड़ भी की। जिन दावेदारों को टिकट नहीं मिला, उनके समर्थकों ने पार्टी मुख्यालय में कुर्सियां और अन्य सामान तोड़ डाले।

रायपुर दक्षिण सीट के लिए उम्मीदवार के नाम के लिए कांग्रेस समर्थकों ने दफ्तर में जमकर बवाल काटा। वहीं, कांग्रेस की 5वीं और अंतिम सूची में नाम न होने से पूर्व मुख्यमंत्री अजित योगी की पत्नी रेणु जोगी ने निराशा जाहिर की है और पार्टी के फैसले पर हैरानी जताई है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कदम से मुझे निराशा हुई है। मुझे पता चला है कि कांग्रेस ने कोटा विधानसभा सीट से मेरे बदले विभोर सिंह को मैदान में उतारा है। कांग्रेस से मुझे ऐसी उम्मीद नहीं थी। मुझे उम्मीद थी कि मेरी पहचान और निष्ठा को देखते हुए कांग्रेस मेरा टिकट नहीं काटेगी पर ऐसा हुआ, जो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। आज नामांकन की आखिरी तारीख है और तय समय में मैं फैसला ले लूंगी कि मुझे चुनाव लडऩे को लेकर क्या फैसला करना है।

कार्यकर्ताओं के इस हंगामे पर पार्टी नेता आर. तिवारी का कहना है कि ये कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की भावनाएं हैं, उन्हें बोलने का हक है। जो लोग हंगामा कर रहे थे, उनसे पीएल पुनिया ने बात की है जिसके बाद नाराज कार्यकर्ता चले गए।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓