Print Friendly, PDF & Email


दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव के तत्वावधान में पुरस्कार विजेता पटकथा-लेखक और उपन्यासकार अद्वैत कला द्वारा तैयार किए गए शब्दों का त्योहार, यानी पहला ‘वर्ड काउंट’ (शब्द गणना) का आयोजन इंडिया हैबीबेट सेंटर के एंपीथिएटर में 22 से 24 नवंबर तक किया जाएगा। इसकी जानकारी आज प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए दिल्ली इंटरनेशनल आर्ट्स फेस्टिवल की फाउंडर डाइरेक्टर पद्मश्री प्रतिभा प्रहलाद ने दी। प्रेस वार्ता का आयोजन दिल्ली के विंडसर प्लेस स्थित इंडियन वुमेन प्रेस कार्प्स मे की गई। इस मौके पर अद्वैत कला भी मौजूद रहीं। साथ ही मशहूर फैशन डिजाइनर शांतनु एंड निखिल, दिलीप चेरियन, कबीर कौशिक समेत सभी गणमान्य लोग मौजूद रहे।  सम्मेलन में ’25वें एशियान-भारत साझेदारी उत्सव’ के दौरान आयोजित होने वाले कई कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाएगा। इसमें कुतुब मीनार में 25 नवंबर को समापन समारोह का कार्यक्रम भी शामिल है।
‘वर्ड काउंट’ (शब्द गणना) त्योहार हमारी ज़िंदगी, यानी कला, राजनीति, संस्कृति और पाठ्यक्रम साहित्य में शब्दों की भूमिका पर प्रकाश डाला जाएगा, क्योंकि शब्दों की शक्ति को कभी भी कम करके आंका नहीं जा सकता है। यानी, ‘शब्द गणना’ एक त्योहार है, जो आम जीवन में लोगों के बीच आपसी समझ बढ़ाने, संवाद स्थापित करने एवं समुदाय के बीच सामंजस्य को बढ़ावा देने की समझ को विकसित करता है। यह जानकारी मंगलवार को वीमेंस प्रेस क्लब में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव की निदेशक पद्मश्री प्रतिभा प्रहलाद ने दी। इस मौके पर ‘शब्द गणना’ के क्यूरेटर अद्वैत कला, फैशन डिजाइनर जोड़ी शांतनु और निखिल, दिलीप चेरियन आदि भी मौजूद थे।
उल्लेखनीय है कि दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव को अब कलाओं के ‘ब्रांड इंडिया’ त्योहार के रूप में दुनिया भर में मान्यता प्राप्त हो चुका है। दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव दुनिया भर से कलाकारों, लेखकों, विचारकों, संस्कृति कर्मियों और सांस्कृतिक उत्साहियों का स्वागत करता है, ताकि हमारे देश की समृद्धि और सुंदरता का अनुभव पूरे विश्व द्वारा किया जा सके और हमारे कला प्रेमी दर्शकों के सामने उनकी कला को पेश कर सकें।

 

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
loading...