प्रतीकात्मक चित्र
Print Friendly, PDF & Email

हजारीबाग, झारखंड
जिले के दो युवकों ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली तथा दोनों ही पेशे से इंजीनियर थे। एक युवक ने पदमा थाना अंतर्गत पदमा जंगल में पेड़ में फांसी लगाकर आत्महत्या की। तो दूसरे ने कोर्रा थाना अंतर्गत दीपूगड़ा अपने आवास पर ही आत्महत्या कर ली। दोनों युवक इंजीनियर थे।

दोनों मृतकों की उम्र 24 साल के आसपास बताई जा रही है। प्रमोद कुमार जिसके पिता का नाम दुर्गा प्रसाद है वह देव चंदा पदमा का रहने वाला है। उसने आईएसएम से माइनिंग की डिग्री हासिल की थी। परिजनों ने बताया कि वह चार दिनों से लापता था। सोमवार को उसका शव पदमा जंगल में पेड़ पर लटका मिला। पुलिस ने शव को जब्त कर हजारीबाग सदर अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

वहीं, दूसरे का नाम कुमार शिवम है, वो सिविल इंजीनियर था। उसके पिता हरि मुनीराम लघु सिंचाई विभाग में हजारीबाग में एसडीओ के पद पर कार्यरत हैं। मृतक कुमार शिवम घर पर अकेले था उसके माता-पिता तीर्थ करने के लिए विंध्याचल गए हुए थे। वहीं, मृतक का भाई मुंबई में सिविल इंजीनियर के रूप में काम कर रहा है।

घटना के बाद कोर्रा पुलिस ने मृतक कुमार शिवम का शव हजारीबाग सदर अस्पताल भेज दिया है। दोनों के परिजनों कहना है कि दोनों युवकों का व्यवहार काफी अच्छा था लेकिन ऐसी क्या बात हो गई कि दोनों ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓