हत्या
Print Friendly, PDF & Email



गोड्डा : झारखंड के गोड्डा में दो व्यक्तियों को पीट पीट कर मार डाला गया उन पर मवेशी चोरी का आरोप है। दोनों मुस्लिम समुदाय के बताए जा रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार बीती रात में देवडांड़ थाना क्षेत्र के ढुल्लू गांव में कुछ  चोरों ने ग्रामीणों के भैंसों पर हाथ साफ करना चाहा, लेकिन ग्रामीणों ने खदेड़ कर 6 लोगों को पकड़ लिया पिटाई के बाद उन्होंने कथित तौर पर अपना जुर्म कुबूल कर लिया। वहीं आक्रोशित लोगों ने दो चोरों की पीट पीट कर मार डाला।

मृतकों की पहचान चरकू अंसारी व मुर्तजा अंसारी के रूप में हुई है दोनों साहेबगंज के बांझी तलझारी गांव के रहनेवाले थे।  मौके पर पुलिस ने पहुँच कर उन शेष चारों को अपने कब्जे में कर लिया है फिलहाल पुलिस नें हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी में जुट गई है, अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। घटना 13 जून की है गोड्डा के एसपी राजीव रंजन सिंह के अनुसार मृतक मवेशी चोर थे। चोरी के 13 मवेशी को ग्रामीणों ने जब्त कर लिया है। पुलिस शव को अपने कब्‍जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है।

पोस्‍टमार्टम के बाद परिजनों को डेड बॉडी को सौंप दी जाएगी। पुलिस को सुबह में घटना की सूचना मिली जिसके बाद पुलिस की टीम घटनास्थल पर गयी।  पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।  ग्रामीणों का आरोप है कि दोनों युवक भैंस चोरी करने आये थे भैंस चोरी करके जब लौट रहें थे, स्थानीय ग्रामीणों ने उन्हें पकड़ लिया और पीट पीट कर उनकी हत्या कर दी। एसपी ने कहा कि दोषी कोई भी हो, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

 हत्या मामले में पुलिस ने त्वरित कार्यवाई करते हुए ढुलू गांव के मुंसी सोरेन सहित चार को गिरफ्तार कर लिया है  गौरतलब की झारखंड में मॉब लिंचिंग की यह पहली घटना नहीं है इससे पहले भी सरायकेला और रामगढ़ जिला में मॉब लिंचिंग की घटना हो चुकी है सरायकेला में बच्चा चोरी करने के आरोप में मॉब लिंचिंग की घटना हुई थी, जबकि रामगढ़ में कथित रुप से प्रतिबंधित मवेशी की मांस ले जाने के कारण एक व्यक्ति की हत्या कर दी गयी थी हत्या का आरोप गौरक्षा दल के सदस्यों पर लगा था जिनके खिलाफ अदालत आजीवन कारावास की सजा सुना चुकी है।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓

यह भी पढ़ें :  झारखंड: आर्द्रभूमि प्राधिकरण के गठन को मंजूरी