Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली
न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी, न्यायमूर्ति विनीत सरण व न्यायमूर्ति के.एम.जोसेफ ने मंगलवार को सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में शपथ ली। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने उन्हें पद की शपथ दिलाई। यह शपथ ग्रहण न्यायमूर्ति जोसेफ को वरिष्ठता क्रम में तीसरे स्थान पर रखे जाने के विवादों के बीच हुआ है। जबकि सर्वोच्च न्यायालय के कॉलेजियम ने उनकी संस्तुति पहले ही कर दी थी।

तीन नए न्यायाधीशों के शामिल होने के बाद शीर्ष अदालत में न्यायाधीशों की संख्या 28 हो गई है। यह पहली बार है कि सर्वोच्च न्यायालय में वर्तमान में तीन महिला न्यायाधीश हैं। इसमें न्यायमूर्ति आर.भानुमति, न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा व न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी शामिल शामिल हैं।

न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी सर्वोच्च न्यायालय की सातवीं महिला न्यायाधीश हैं। सर्वोच्च न्यायालय की पहली महिला न्यायाधीश न्यायमूर्ति फातिमा बीवी, इसके बाद न्यायमूर्ति रूमा पाल, न्यायमूर्ति रंजना देसाई, न्यायमूर्ति ज्ञान सुधा मिश्रा, न्यायमूर्ति आर भानुमति और न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा हैं।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓