Print Friendly, PDF & Email



देहरादून : चौथे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर जैसे-जैसे सूरज की किरणें दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में पहुंच रही हैं, वैसे-वैसे तमाम देश योगमय होते जा रहे हैं। देहरादून में आयोजित चौथे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देहरादून से लेकर डबलिन तक, संघाई से लेकर शिकागो तक और टोक्यो से लेकर टोरंटो तक हर जगह योग दिवस मनाया जा रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने मंच के बजाय लोगों के बीच जाकर योगासन किए और बिना कोई राजनीतिक टिप्पणी किए लोगों को 2019 के लिए संदेश दे गए। इस दौरान मोदी ने 50 हजार से ज्यादा लोगों के साथ किया।

गुरुवार सुबह तीन बजे से ही देहरादून के 50 हजार से ज्यादा लोग योग दिवस समारोह में शामिल होने के लिए घरों से निकल पड़े थे। शहर की तमाम सड़कों पर योग दिवस की टी-शर्ट पहने बच्चों, युवाओं और बुजुर्गों का हुजूम आयोजन स्थल उत्तराखंड की राजधानी देहरादून स्थित वन अनुसंधान संस्थान (एफआरआई) की ओर जाता दिखा। पांच बजते बजते एफआरआई का विशाल मैदान लोगों की भीड़ से लबालब नजर आने लगा था।

निर्धारित समय 6.30 मिनट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्यपाल डॉ. केके पॉल, राज्य् के मुख्यिमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक और राज्य के आयुष मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत मंच पर पहुंचे। योग अभ्यास शुरू करने से पहले पीएम मोदी ने दुनियाभर के योग प्रेमियों को चौथे अंतरराष्ट्री य योग दिवस पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि बिखराव के बीच योग जोड़ने का काम करता है। उन्होंने कहा कि उत्ताराखंड शुरू से योग का अहम केंद्र रहा है।

दुनियाभर में योग दिवस का समर्थन भारत के लिए गर्व का विषय है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जैसे-जैसे सूरज अपनी यात्रा करेगा, दुनिया के हर भूभाग पर लोग सूर्य की किरणों के साथ योग करते दिखेंगे। देहरादून से लेकर डबलिन तक शंघाई से लेकर शिकागो तक सब योग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब जीवन में समृद्धि आती है तो तनाव, बिखराव और विवाद बढ़ते है। आज की तेज रफ्तार जिंदगी में योग तमाम तनावों के बीच राहत देता है। योग हमें समाज व परिवार के प्रति संवेदनशील बनाता है। योग पूरी मानवता को जोड़ता है।

यह भी पढ़ें :  मुलायम सिंह को मिल सकता है 'हल जोतते किसान' का सिंबल

पीएम मोदी ने कहा कि योग के कारण दुनिया आज इलनेस से वेलनेस की तरफ बढ़ रही है। योग पारंपरिक होने के साथ ही मॉर्डन भी है। योग के पास परेशानियों का सटीक उपचार है। उन्होंने कहा कि हर साल करोड़ों लोग दुनिया भर में हृदय रोगों और मधुमेह जैसी बीमारियों से लड़ते हैं। योग इसके लिए लाभदायक है। पीएम ने कहा कि बांटने की जगह योग जोड़ता है। बीमारी में आराम देता है। भाईचारे और खुशहाली का प्रतीक है। इसके बाद पीएम मोदी ने सभी से योग से जुड़ने का आह्वान किया और इस बड़े आयोजन के लिए उत्तराखंड का धन्यवाद कहकर अपना संबोधन समाप्त किया।
इससे पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने स्वागत भाषण में कहा कि योग दिवस के राष्ट्रीय आयोजन गर्व का विषय है।

राज्य इसके लिए केंद्र सरकार का आभार व्यक्त करता है। पीएम का राज्य से विशेष लगाव है, जिसके लिए राज्य उनका आभारी है। उन्होंने कहा योग स्वास्थ्य और कल्याण का साधन है। सीएम ने कहा कि अटल जी ने राज्य को बनाया और अब मोदी उत्तराखंड को सवार रहे हैं। उन्होंने कहा कि केदारनाथ आपदा के बाद दो बार आकर पीएम ने लोगों में सुरक्षा का भावभर रहे हैं।
इस मौके पर केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि पीएम मोदी के प्रयास के कारण ही आज पूरी दुनिया में चतुर्थ योग दिवस मनाया जा रहा है। योग को आगे ले जाने की जिम्मेदारी आयुष मंत्रालय को दी गई है। पूरे देश में मंत्रालय ने वर्षभर योग को लेकर कार्यक्रम आयोजित किए। सभी राज्यों व विभागों को कहा गया है कि वे योग को अपने वार्षिक कार्यक्रमों का हिस्सा बनाएं। उन्होंने कहा कि योग दिवस के लिए कॉमन योग प्रोटोकॉल विकसित किया गया है, जिसके तहत देशभर में एक साथ एक तरीके से योग अभ्यास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार योग के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को पुरस्कार भी प्रदान करेगी, जो चार श्रेणियों में दिए जाएंगे।

निर्धारित समय से लगभग पांच मिनट की देरी से योगाभ्यास शुरू हुआ। मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान के डॉ. ईश्वर वासू रेड्डी ने योगाभ्यास कराया। इस दौरान उन्होंने अलग-अलग आसनों के लाभ भी बताए। कार्यक्रम का संचालन आकाशवाणी की उद्घोषिका मनीषा दुबे ने किया। इस मौके पर पतंजलि योग पीठ, एनसीसी, एनएसएस, भारत स्काउट एवं गाइड, परमार्थ निकेतन, प्रदेश के तमाम स्कूल-कॉलेजों के छात्रों के साथ एमएलए, एमपी और राज्य के मंत्री मदन कौशिक, प्रकाश पंत, डॉ. धन सिंह रावत, अरविंद पांडेय, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, राष्ट्रीय सचिव भाजपा तीरथ सिंह रावत, परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद मुनि आदि मौजूद रहे। हालांकि, विपक्ष के विधायकों ने समारोह में शामिल होने से परहेज किया।

यह भी पढ़ें :  पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकी हमले में सामने आया NSG का नेगेटिव रोल

राजभवन में लगाया  चंदन का पौधा

योग दिवस समारोह में शिरकत करने पूर्व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को राज्यपाल डॉ कृष्ण कांत पाल ने स्मृति चिह्न भेंट किया। इस मौके पर उन्होंने राजभवन प्रांगण में चंदन का पौधा लगाया । इस दौरान राज्यपाल डॉ. पाल और उनकी पत्नी ओमिता पाल, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, मुख्य सचिव, डीजीपी, सचिव राज्यपाल रविनाथ रामन , राज्य प्रोटकॉल अधिकारी डॉ. राघव लांगर मौजूद रहे।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
loading...