Print Friendly, PDF & Email

sahitya




दुनियां में एक तरफ जहां युद्ध और नफ़रतें हैं तो वहीं दूसरी तरफ सृजनकर्मियों का गढ़ा हुआ बहुत बड़ा रचना संसार भी है| यह ऐसी दुनियां है जहाँ बमों, तलवारों और त्रिशूलों के लिए कोई जगह नहीं है बल्कि इस दुनियां में रंग हैं, संगीत है, धुनें हैं, कविता, गीत और ग़ज़ल है, रुपहले पर्दे के रंगीनियत है, रंगमंच की जादूगरी है, महान संस्कृतियों का गौरव है, जहाँ कुछ गढ़ने की दीवानगी है| मनुष्य के नैसर्गिक गुणों में सबसे महान गुण है – सृजन करना| हम प्रतिपल कुछ रच रहे है| सृजन हमें जीवन से प्यार करना सिखाती है या ये कहें कि प्रेम करनेवाला ही कुछ गढ़ पाता है| यही कारण है कि सृजन की दुनियां हमेशा नफरत की दुनियां पर भारी पड़ जाती है|




हिंद वॉच का प्रयास है कि सृजन की दुनियां से जुड़ी ख़बरें अपने पाठकों तक प्रमुखता से पहुंचाया जाए| आप साहित्य, कला, संस्कृति, सिनेमा, संगीत, रंगमंच की ताजातरीन ख़बरें / आलेख / रिपोर्ट नीचे दिए तस्वीरों की लिंक पर क्लिक करके पढ़ रखते है :

 

sanskriti sangee

sahiya

rangmanch

klaa  cinema



इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓