Print Friendly, PDF & Email



राजनीति में आरोप औजर प्रत्यारोप का दौर तो चलता रहता है लेकिन कई बार आरोप इतने संगीन हो जाते हैं कि उन पर चर्चा करना जरूरी हो जाता है, अब जैसे हाल में तेजस्वी यादव के ही आरोप को देख लीजिये, उन्होंने नीतीश कुमार पर काफी संगीन आरोप लगाये हैं।

हालांकि जहाँ आग होती है वहीँ धुंआ उठता है, ऐसे में क्या है पूरा मामला आइए जानते हैं। गौरतलब है कि बिहार के भागलपुर में दो समुदायों के बीच हुई हिंसक झड़प के मामले को लेकर अब सियासी घमासान तेज हो गया है।

इस बात पर बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भागलपुर में हुई इस हिंसक झड़प को लेकर बिहार की नीतीश सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। तेजस्वी ने इसे हालिया उपचुनावों से जोड़ते हुए कहा है कि हार से बौखलाकर भागलपुर में दंगा कराया गया है।

इतना ही नहीं वे यहीं नहीं रुके और सीएम नीतीश कुमार को घेरते हुए पूछा कि वह ऐसे तत्वों और शक्तियों को प्रायोजित और प्रोत्साहित क्यों कर रहे हैं?

जिनको नहीं पता उनको बता दें कि भागलपुर के नाथनगर में शनिवार को एक जुलूस को लेकर दो समुदायों के बीच हुई हिंसक झड़प हुई थी। यह मुस्लिम बहुल इलाका है। शनिवार को हिंदू कैलेंडर विक्रम संवत को लेकर जुलूस निकाला जा रहा था।

यह जुलूस मदनी चौक के पास रुक गया। बताया जाता है कि जुलूस का स्थानीय लोगों ने विरोध किया। दोनों समूहों में पहले बहस हुई, जिसने बाद में हिंसा की शक्ल ले ली। कुछ शरारती तत्वों ने एक दोपहिया वाहन को आग के हवाले कर दिया। कुछ दुकानों में भी तोड़फोड़ की गई।

 बहरहाल एक ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा, हार से घबराए और बौखलाहट में भागलपुर में दंगा करवाया गया। अररिया, दरभंगा के बाद अब भागलपुर।’ इस दौरान हिंसक झड़पों पर अंकुश नहीं लगा पाने को लेकर भी तेजस्वी ने नीतीश पर निशाना साधा।

अपने ट्वीट में तेजस्वी ने आगे लिखा है ,’नीतीश कुमार इतने असहाय, बेबस और लाचार क्यों है?’ इसके साथ ही तेजस्वी ने आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार माहौल बिगाड़ने वाले तत्वों को बढ़ावा दे रहे हैं। अपने ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा, ‘गृह विभाग नीतीश कुमार के पास है और वह माहौल बिगाड़ने वाले ऐसे तत्वों और शक्तियों को प्रायोजित और प्रोत्साहित क्यों कर रहे है?’

अब गेंद नीतीश कुमार के पाले में है देखते हैं वह इन आरोपों पर किस तरह की प्रतिक्रिया देते हैं?

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
loading...