(फाइल फ़ोटो)
Print Friendly, PDF & Email

रांची, झारखंड
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद के  औपबंधिक जमानत की अवधि तीन जुलाई तक बढ़ा दी गई है। जमानत की अवधि बढ़ाते हुए कोर्ट ने 29 जून तक मेडिकल रिपोर्ट कोर्ट में प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की औपबंधिक जमानत की अवधि 29 जून को समाप्त हो रही थी। उनकी तरफ से अवधि बढ़ाने का आग्रह करते हुए कहा गया है कि उनका प्लेटलेट्स कम हो गया है। शुगर बढ़ा हुआ है। ब्लड प्रेशर भी है। मुंबई के एक निजी अस्पताल में ईलाज चल रहा है। डॉक्टरों के अनुसार अभी स्थिति ठीक नहीं है और लंबे इलाज की जरूरत है। इस कारण उनकी जमानत की अवधि बढ़ाई जाए। इस आग्रह को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीएन पटेल की अदालत ने स्वीकार करते हुए तीन जुलाई तक अवधि बढ़ा दी और 29 जून को सुनवाई निर्धारित की।

 राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव विगत कई माह से बीमार चल रहे है। दुमका ,देवघर और डोरंडा कोषागारों से जुड़े कई मामलों में सजायाफ्ता लालू यादव रांची के बिरसा मुंडा जेल से ईलाज के लिये पहले रांची के रिम्स और बाद में दिल्ली के ऐम्म्स ले जाया गया था। दिल्ली से उनको वापस होटवार जेल भेज दिया गया था। वहीँ  से पेरोल पर वे पटना अपने बड़े पुत्र तेजप्रताप की शादी में शामिल होने गये थे। पेरोल के दौरान ही विगत 11 मई को झारखंड हाई कोर्ट  ने उन्हें छह हफ्तों के लिए सशर्त प्रोविजनल जमानत ईलाज के लिये दिया गया था।

जमानत की अवधि पूरी होने की तारीख से पहले शुकरवार को लालू प्रसाद के वकीलों ने तिथि विस्तार आदेश प्राप्त कर लिया। बताते चलें कि चारा घोटाले से जुड़े न्यायधीश के छुट्टी पर होने के कारण आज लालू प्रसाद यादव की औपबंधिक जमानत अवधि बढ़ाने संबंधी याचिका के  सुनवाई पर संशय बना हुआ था। विशेष आग्रह पर शुक्रवार को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीएन पटेल की अदालत ने स्वीकार करते हुए तीन जुलाई तक अवधि बढ़ा दी और 29 जून को सुनवाई निर्धारित की।

पोस्टल कोड 834001

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓