(केरल के इमाकुलम में बाढ़ प्रभावित लोगों को बचाते हुए बचाव दल के सदस्य और वालंटियर्स) (फोटो क्रेडिट : द हिन्दू)
Print Friendly, PDF & Email

तिरुअनंतपुरम (नेशनल डेस्क)।
केरल के हालात इतने बिगड़ गए हैं कि पानी के ऊपर लाशों को तैरते देखा जा रहा है। स्थिति संभलने के बजाय बिगड़ते जा रही है। मई से अब तक 324 लोगों की मौत होने के बाद आज 18 अगस्त को 23 और शव मिले। इनमें से 15 शव बाढ़ के पानी में तैरते हुए मिले। 14 में से 13 जिले बेहद प्रभावित हुए हैं। इस बीच, मौसम विभाग ने केरल के 11 जिलों में भारी बारिश की आशंका के चलते रेड अलर्ट जारी किया। अनुमान है कि तिरुवंतपुरम, कोल्लम और कासरगोड को छोड़कर बाकी सभी जिलों में भारी बारिश हो सकती है।

18 अगस्त की सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया है। उन्होंने राज्य को 500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त मदद देने का ऐलान भी किया है। पहले 100 करोड़ की मदद दी गई थी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र के इस फैसले का स्वागत किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि “केरल में लोगों की जिंदगी दांव पर लगी। बिना देरी के इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए।”

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓