(डोरंडा थाने शांति समिमें ति की बैठक)
Print Friendly, PDF & Email

रांची : रविवार शाम रांची के मेन रोड से भाजयुमो की बाइक रैली गुजर रही थी। तभी विवाद हो गया और एक गुट के लोगों  रैली में शामिल लोगों पर हमला कर दिया। इसके बाद सोशल मीडिया पर अफवाह का दौर जारी हो गया। सोशल मीडिया पर लोगों ने  तरह तरह के अफवाह फैलाने शुरू कर दिए।

तत्काल हरकत में आई रांची पुलिस ने हालात पर काबू करते हुए लोगों से अपील किया है कि सोशल मीडिया पर अफवाह ना फैलाएं। पुलिस ने चेतावनी दी है कि  सोशल साइट्स (whats App, facebook, twitter) में शरारती तत्वों द्वारा किसी प्रकार का अफवाह फैलाया जाता है तो ग्रुप एडमिन को सीधे तौर पर जिम्मेदार मानते हुए कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

यदि सोशल साइट्सपर किसी प्रकार का अफवाह फैलाने वाले प्रतिकूल टिका टिप्पणी करते है तो ग्रुप एडमिन का दायित्व बनता है की इसकी सुचना संबंधित थाना को अविलंब देते हुए, ग्रुप के सदस्यों को अथवा अन्य ग्रुप पर उक्त फोटो/SMS  को शेयर न करें और न ही ग्रुप के अन्य सदस्यो को करने दें।

सभी ग्रुप एडमिन अपने अपने ग्रुप के सदस्यों को अफवाह फैलाने वाली पोस्ट से बचने का अनुरोध करें।

वरीय पुलिस अधीक्षक, रांची के आदेशानुसार वैसे शरारती तत्व जो सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाते हैं, उनसे पुलिस सख्ती से पेश आयेगी और उनपर भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के साथ-साथ आई। टी। एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया जाएगा। ग्रुप में भड़काऊ पोस्ट के लिए सीधे तौर पर ग्रुप एडमिन को भी जिम्मेदार मानते हुए कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓