Print Friendly, PDF & Email



नोएडा, उत्तर प्रदेश
नोएडा में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने सोमवार शाम को सैमसंग मोबाइल फैक्ट्री का उद्घाटन किया। इस दौरान नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस फैक्ट्री में आना उनके लिए सुखद अनुभव है। उन्होंने कहा कि 5000 करोड़ रुपये का यह निवेश कोरिया और भारत के संबंधों मजबूत करेगा। मोदी ने कहा कि जिस तरह से इस फैक्ट्री में फोन बनेंगे और विदेशों में जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोरिया की टेक्नोलॉजी और भारत की मैनुफैक्चरिंग मिलकर दुनिया में अपना नाम बनाएंगे। सैमसंग कंपनी की ये नई यूनिट नोएडा के सेक्टर-81 में है। इसे दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री कहा जा रहा है।

मोदी ने कहा कि मोबाइल फोन मैन्युैफैक्चररिंग के मामले में भारत दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। मेक इन इंडिया के प्रति मेरा आग्रह कोरिया जैसे देशों के लिए मित्रता को बढ़ावा देना भी है। आज डिजिटल टेक्नोेलॉजी सामान्य मानवी के जीवन में अहम भूमिका निभा रहा है। 32 करोड़ लोग ब्रॉडबैंड का इस्तेमाल कर रहे हैं। नोएडा के सेक्टर 81 में सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स की ये फैक्ट्री 35 एकड़ में फैली है, जिसका आज उद्घाटन हुआ है। इस फैक्ट्री को बनाने में पिछले साल सैमसंग ने करीब 5 हजार करोड़ का निवेश किया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दक्षिण कोरिया और अयोध्या का एक भावनात्मतक रिश्ताम है। आज से दो हजार वर्ष पहले अयोध्याा की राजकुमारी दक्षिण कोरिया के राजकुमार के साथ विवाह बंधन में बंधी थीं। उन्होंने कहा कि मार्च 2017 में सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स अपनी इस यूनिट को देश के किसी अन्य राज्य में ले जाने की तैयारी कर चुका था लेकिन उन्होंने कंपनी की परेशानियां सुनी और हर संभव मदद की। योगी ने कहा कि इस प्लांट में करीब 35 हजार प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रोजगार का सृजन होगा। कंपनी का दावा है कि यह दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट होगा। नोएडा के सेक्टर 81 में बना यह प्लांट 35 एकड़ में फैला है। करीब 5 हजार करोड़ रुपए में तैयार हुआ है। फिलहाल कंपनी भारत में 6.7 करोड़ स्मार्टफोन बनाती है। इस प्लांट में प्रोडक्शन से इनकी संख्या बढ़कर करीब 12 करोड़ सालाना हो जाएगी।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
loading...



यह भी पढ़ें :  मोदी के खिलाफ मुंह खोलने की सजा मिलनी ही थी तोगड़िया को