एक तरफ पाकिस्तान के साथ सीमा पर गोलीबारी जारी होने की खबरें आ रही हैं तो वहीं दूसर तरफ सीमा पार से एक अलग तरह की खबर आयी है। इस खबर के मुताबिक पाकिस्तान को जल्द ही उनके मुल्क की पहली महिला सीनेटर मिल सकती है।

इस ऐतिहासिक बदलाव का काम किया है पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ने। और जो महिला पहली हिन्दू सीनेटर बन सकती है उसका नाम है कृष्णा कुमारी।

कृष्णा पाकिस्तान की पहली हिंदू सीनेटर हो सकती हैं। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी द्वारा सिंध के थार की हिंदू महिला कृष्णा को जनरल सीनेट सीट के लिए नोमिनेटेड (मनोनीत) किया गया है।

अगर नगरपारकर जिले की कृष्णा कुमारी यह चुनाव जीतती हैं तो वह मुस्लिम बहुल वाले पाकिस्तान की पहली ही हिंदू महिला सीनेटर हो जाएंगी। कृष्णा स्वतंत्रता सैनानी रूपलो कोहली के परिवार से आती हैं। साल 1857 में जब ब्रिटिश लोगों ने सिंध पर हमला किया था तब उन्होंने बहादुरी के साथ लड़ाई लड़ी थी।

गौरतलब है कि कृष्णा कुमारी ने अपने भाई के साथ एक सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर पीपीपी ज्वॉइन किया था। बाद में उन्हें बेरेनो से यूनियन काउंसिल का अध्यक्ष बनाया गया।

उन्होंने थार में हाशिए पर मौजूद समुदायों और दलित लोगों के अधिकारों के लिए काफी काम किया है। वैसे पीपीपी ने पाकिस्तान को बहुत सी महिला नेता प्रदान पाकिस्तान की पहली महिला प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो भी पीपीपी से थीं। पहली महिला विदेश मंत्री हिना रब्बानी और नेशनल असेंबली की पहली महिला अध्यक्ष फैहमिदा मिर्जा भी पीपीपी से थीं।

इस लिहाज से इन पार्टी को पाकिस्तान की अलग पार्टी कहा जा सकता है जो कट्टर और धार्मिक मानसिकता से ऊपर उठकर महिलाओं को भी सियासत में आगे आने का मौका देती हैं अब निगाहें कृष्णा कुमारी पर हैं। क्या वे अपनी उम्मीदवारी को इतिहास में बदल पाएंगी?

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
data-matched-content-ui-type="image_card_stacked"

Print Friendly, PDF & Email
यह भी पढ़ें :  असली संघर्ष तो टीम इंडिया के खिलाफ होगा : स्टीव स्मिथ