Print Friendly, PDF & Email



रांची
भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के खिलाफ विपक्ष द्वारा झारखंड बंद को सफल बनाने के लिए सभी विपक्षी पार्टियों के समर्थक और कार्यकर्ता राज्य के अलग-अलग शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क पर उतर गए। सुबह 8 बजे से ही कई जिलों में बंद समर्थक दुकानें बंद कराने लगे। साहेबगंज में बंद समर्थकों ने ट्रेनों का परिचालन भी बाधित किया। इससे वनांचल, ब्रह्मपुत्रा और फरक्का एक्सप्रेस कुछ देर के लिए रुकी रही। लंबी दूरी की बसें नहीं चलीं।

राज्य के हर जिले में बंद का खासा असर देखा जा रहा है। अधिकतर स्कूलों ने छुट्टी घोषित कर दी है। रिम्स सहित सभी सरकारी व निजी अस्पताल खुले हैं। दवा दुकानों को भी बंद से बाहर रखा गया है। वहीं, सड़क पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

झारखण्ड बंद अपडेट 
दुमका में भी बंद देखने को मिला। सुबह से रुक-रुककर हो रही बारिश के बीच झामुमो, आरजेडी, सीपीआई और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम कर दिया।
धनबाद में विपक्षी दल जगह-जगह सड़क जाम और आगजनी कर जताया विरोध। प्रशासन भी मुस्तैद , कई बंद समर्थकों को लिया हिरासत में।
कोडरमा में भी बंद का मिला-जुला असर देखा गया। काफी संख्या में विपक्ष के नेता और कार्यकर्ता सड़क पर उतरे।
रांची के पिस्का मोड़ से रातू रोड तक स्थिति सामान्य है। काफी कम संख्या में ऑटो का संचालन हुआ। कुछ दुकानें खुली तो कुछ बंद है।
-बंद समर्थकों ने रांची-खूंटी पथ के सिंह मोड़ के पास सड़क को पूरी तरह बंद दिया।
-रांची के काके क्षेत्र में बंद समर्थक रोड पर उतरे और टायर जलाकर रास्ता बंद कर दिया। कई क्षेत्रों में सैकड़ों की संख्या में समर्थक निकले।
गिरिडीह के द्वारपहरी में जेएमएम के जिला कार्यकर्णी समिति सदस्य मजिद अंसारी व भाकपा माले ठाकुर मंडल के नेतृत्व में चक्का जाम किया गया।
-गिरिडीह में विपक्षी पार्टियों के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने डुमरी ईसरी में निकाला जुलूस। सिमराडीह मोड़ के समीप जीटी रोड को जाम कर दिया। हालांकि पुलिस ने उन्हें तुरंत हटा दिया।

यह भी पढ़ें :  67 आईपीएस अधिकारियों का कैडर पिछले 8 वर्षों में बदला गया


लातेहार में बंद का आंशिक असर देखा गया। वाहनों का परिचालन अन्य दिनों की तरह ही दिखा।
बोकारो में भी बंद समर्थक सड़क पर उतरे और सड़क जाम करने का प्रयास किया। हालांकि पुलिस की पहल पर ऐसा नहीं किया जा सका।
देवघर में विपक्ष के द्वारा सरकार के भूमि अधिग्रहण के खिलाफ बंद करवाया गया। साथ ही विपक्ष के द्वारा टावर चौक के समीप सड़क जाम किया गया।
साहिबगंज जिले के बरहडवा में विपक्षी दलों के बंद के दौरान स्टेशन पर रोकी गई ट्रेनें। कुछ समय के लिए वनांचल, ब्रह्मपुत्रा और फरक्का एक्सप्रेस को रोका गया। बाद में आरपीएफ ने ट्रेन को आगे बढ़वाया।

बंद के दौरान विपक्षी कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर जगह-जगह टायर जलाकर जाम कर रहे हैं और रघुबर दास सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। रांची में बंद समर्थकों ने ट्रैक पर आकर कई ट्रेनों को रोक दिया। उन्होंने राजधानी एक्सप्रेस को भी बलपूर्वक रोकने की प्रयास किया। हालांकि सुरक्षाबलों और पुलिस ने उन्हें पटरी से हटा दिया।

बंद को देखते हुए प्रशासन ने कमर कस लिया है। प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से कई विपक्षी नेताओं और बंद समर्थकों को गिरफ्तार किया गया है।

अगली खबर में पढ़िए झारखण्ड बंद पर विस्तृत रिपोर्ट।
पोस्टल कोड 834001 827001 814101

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
loading...