Print Friendly, PDF & Email



’‘शाहिद’ और ‘अलीगढ़’ जैसी बेहतरीन फिल्मों देने वाले निर्देशक हंसल मेहता अब ‘ओमर्टा’ लेकर हाजिर हैं। अपनी इसी फिल्म का ट्रेलर रिलीज करने के लिए हंसल मेहता फिल्म के हीरो राजकुमार राव के साथ दिल्ली पहुंचे। कनाॅट प्लेस स्थित पीवीआर प्लाजा में रिलीज इस फिल्म के ट्रेलर में दिखाया गया है कि कैसे अहमद ओमार सईद आतंकवादी बन जाता है। इस फिल्म में आतंकवादी के किरदार में राजकुमार राव काफी दमदार लग रहे हैं। ट्रेलर में काफी सीन ऐसे हैं, जो दिल थाम लेने को मजबूर कर देते हैं। हंसल मेहता ने खुद इस फिल्म को सबसे विस्फोटक फिल्म बताया था।

पिछले दिनों इस फिल्म का पहला पोस्टर भी जारी किया गया था, जिसमें भी राजकुमार राव गन प्वाइंट पर नमाज अदा करते हुए नजर आए थे। पोस्टर के साथ लिखा गया है- ‘कोड आॅफ सायलेंस’। पिछले लंबे समय से चर्चाओं में बनी हुई इस फिल्म की कहानी वाकई दिल दहला देने वाली लग रही है।

ट्रेलर रिलीज के मौके पर मीडिया से बातचीत में डायरेक्टर हंसल मेहता ने बताया, ‘यह फिल्म आतंकी अहमद ओमर सईद शेख की कहानी पर बेस्ड है। ओमर सईद ने वर्ष 2002 में वॉल स्ट्रीट जर्नल के पत्रकार डेनियल पर्ल को पाकिस्तान में किडनैप करवा कर उसकी हत्या कर दी थी। विदेशी पत्रकार की हत्या के आरोप में ओमर को मौत की सजा भी सुनाई गई थी, लेकिन ओमर को कभी भी फांसी नहीं दी जा सकी। वह आज भी जिंदा है।’

हंसल मेहता ने यह भी बताया, ‘‘ओमर्टा’ आतंकियों के भीतर चलने वाली उथल-पुथल की कहानी कहती है, न कि सीधे तौर पर आतंकवाद की। फिल्म का नाम भी यही इशारा करता है। दरअसल, ‘ओमर्टा’ एक इटैलियन शब्द है, जो अपराधियों और माफिया लोगों के बीच एक-दूसरे को लेकर परस्पर वफादार रहने की एक किस्म की कसम होती है।

यह भी पढ़ें :  मेहुली का नैशनल रिकॉर्ड सुनकर चौंक जाएंगे

दिलचस्प बात यह है कि 1999 में जब इंडियन एयरलाइंस की फ्लाइट 814 को हाइजैक कर कंधार ले जाया गया था और यात्रियों की जान बख्शने के एवज में जिन तीन आंतकियों को भारतीय जेलों से छुड़वा लिया गया था, उनमें से एक ओमर भी था।’ बकौल हंसल मेहता, ‘ओमर्टा’ हमारे समय के सबसे खतरनाक आतंकवादियों में से एक की भयानक वास्तविक कहानी है।

पाकिस्तान और अफगानिस्तान को रिक्रिएट करते हुए, लंदन और भारत के ओरिजिनल लोकेशन पर शूट ‘ओमर्टा’ पाकिस्तान प्रायोजित आतंक के असली और वर्तमान खतरे को उजागर करती है। 9/11 हमला, मुंबई आतंकवादी हमला, अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की क्रूर हत्या सहित हाल के इतिहास में कुछ सबसे खतरनाक आतंकवादी हमलों के इर्द-गिर्द बनी यह फिल्म एक दुष्ट (एविल) मन की यात्रा की कहानी कहती है। दरअसल, ओमर्टा एक ऐसे व्यक्ति के मन को समझने की कोशिश है, जो दुनिया के संपर्क से बाहर है।

इस फिल्म को टोरंटो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल-2017 में बेहतरीन समीक्षा मिली। इसके बाद, बुसान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल और मुंबई फिल्म फेस्टिवल 2017 में समापन फिल्म के तौर पर इसकी सफल स्क्रीनिंग हुई।’
अभिनेता राजकुमार राव, जो पहली बार उमर सईद शेख की नेगेटिव भूमिका में आ रहे हैं, के बारे में बताया, ‘उमर सईद शेख हमारे समय के सबसे घातक आतंकवादियों में से एक था, क्योंकि उसकी आतंकवादी रणनीति पारंपरिक सोच से भी परे थी।

मैंने अब तक जितनी भी फिल्मों के लिए काम किया है, ‘ओमर्टा’ उनमें सबसे ज्यादा शोध वाली फिल्मों में से एक है। हम वास्तव में लंदन में उमर द्वारा आने वाले कुछ स्थानों पर गए, जहां एक एलएसई स्नातक छात्र से एक घातक आतंकवादी बनने की उसकी बदलाव भरी यात्रा को समझा।

यह भी पढ़ें :  अमेरिका ने पाकिस्तान के मिसाइल कार्यक्रम से जुड़े सात प्रतिष्ठानों पर लगाया प्रतिबंध

दरअसल, मुझे इस व्यक्ति के अतीत को महसूस करने और उसे स्पर्श करने की आवश्यकता थी, क्योंकि इस किरदार को पर्दे पर साकार करना मेरे लिए आसान यात्रा नहीं थी। ‘ओमर्टा’ और हंसल सर के साथ इस फिल्म में हमारा एक बेहतर संयोजन बना है, जिसे पर्दे पर देखकर शायद आप दंग रह जाएंगे।’

स्विस एंटरटेनमेंट और कर्मा मीडिया द्वारा निर्मित और हंसल मेहता द्वारा निर्देशित ‘ओमर्टा’ 20 अप्रैल को रिलीज होगी।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓