Print Friendly, PDF & Email

ऊंचाहार, उत्तर प्रदेश : उत्तर प्रदेश में रायबरेली के ऊंचाहार थाना क्षेत्र स्थित एनटीपीसी (नैशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन) प्लांट में एक बड़े हादसे की खबर है। यहाँ एनटीपीसी में 500 मेगावॉट की यूनिट नंबर 6 के बॉयलर का स्टीम पाइप फटने से अब तक 18 मजदूरों की मौत हो चुकी है। इस दर्दनाक हादसे में 100 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है।

एनटीपीसी अधिकारियों के मुताबिक मृतकों की तादाद 4 है, जबकि मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक 12 डेड बॉडी जमीन पर रखी हुई है। घायलों की मदद के लिए लखनऊ और आस-पास के जिलों से भी ऐंबुलेंस भेजी जा रही हैं। ऊंचाहार में इलाज की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में घायलों को लखनऊ, इलाहाबाद और रायबरेली के अस्पतालों में भेजा जा रहा है। मौके से अब तक 12 डेड बॉडी निकाली जा चुकी है। घायलों में 4 बड़े अधिकारी भी शामिल हैं। इस बीच हादसे की जानकारी मिलने के बाद रायबरेली के डीएम भी मौके पर पहुंचे।

न्यूज एजेंसी एएनआई ने निम्नलिखित ट्वीट करके इस खबर की पुष्टि की है :

ऊंचाहार कोतवाल धनंजय सिंह का कहना है कि अभी तक 4 शव मिले हैं और 40 से 45 लोग घायल हुए हैं। पता चला है कि हादसे में 4 एजीएम भी झुलसे हैं। घायलों को जिला अस्पताल और सिमहैंस हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है। कहा जा रहा है कि जिस वक्त यह हादसा हुआ उस वक्त प्लांट में 150 के करीब मजदूर काम कर रहे थे। जहां यह हादसा हुआ वहां 500 मेगावॉट बिजली का उत्पादन होता है।

कमिश्नर लखनऊ और आईजी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं। लखनऊ के केजीएमयू (किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी) को भी इलाज के लिए दिशा-निर्देश दिए गए हैं। घटनास्थल पर जिले के सीएमओ और सीएमएस मौजूद हैं। रायबरेली के डीएम संजय खत्री ने बताया कि एनटीपीसी प्लांट में प्रेशर के कारण ऐश पाइप फटने से यह हादसा हुआ है। एनटीपीसी की इस यूनिट में डेढ़ हजार से अधिक मजदूर काम करते हैं। हादसे की सूचना के फौरन बाद जिले की सभी ऐंबुलेंस एनटीपीसी बुलाई गई हैं। इस दौरान कई मजदूरों के लापता होने की भी सूचना मिल रही है। मौके पर पहुंचे मजदूरों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। हादसे को लेकर एनटीपीसी के अधिकारियों ने चुप्पी साध रखी है। फिलहाल प्लांट में किसी भी बाहरी को प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है। इसके अलावा सीआईएसएफ (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल) ने पूरे प्लांट को अपने घेरे में ले लिया है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक 9 लोगों की मौत हो चुकी है। प्लांट में अभी भी धुआं निकल रहा है। हालांकि अभी तक एनटीपीसी और जिला प्रशासन की ओर से मृतकों के आंकड़ों की पुष्टि नहीं हो सकी है।

मृतकों के परिजनों को 2 लाख मुआवजा
एनटीपीसी में हुए इस बड़े हादसे पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की नजर है। अभी वह मॉरिशस के दौरे पर हैं। सीएम आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव गृह को मौके पर राहल और बचाव कार्य से जुड़े कदम तत्काल उठाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने इस हादसे पर गहरा दुख जताते हुए मृतकों के परिजनों को 2 लाख रुपये की मदद का ऐलान किया है।

इसके अलावा गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपये और सामान्य घायलों को 25 हजार रुपये की आर्थिक सहायता का ऐलान किया गया है। सीएम ने रायबरेली के डीएम और अन्य वरिष्ठ अफसरों को घायलों के समुचित इलाज का निर्देश दिया है। राज्य सरकार ने निर्देश दिए हैं कि घायलों का इलाज प्राथमिकता के आधार पर लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई अस्पताल में किया जाए। साथ ही घायलों के इलाज का खर्च भी यूपी सरकार वहन करेगी।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓