Print Friendly, PDF & Email



हिंदी फिल्मों के दर्शक भले ही न जानते हों सुप्रिया देवी को, लेकिन बंगाल में उनका कद बहुत बड़ा है। फ़िल्म जगत में उनका सम्मान बंगाल कर सुपरस्टार उत्तम कुमार और सुचित्रा सेन से कम नहीं माना जाता।

दुख की खबर आई है कि 26 जनवरी के दिन वे हमारे बीच नहीं रहीं। दरअसल दिग्गज बंगाली फिल्म अभिनेत्री सुप्रिया देवी का शुक्रवार को उनके दक्षिण कोलकाता स्थित आवास में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

गौरतलब है कि उन्हें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के काफी करीब माना जाता है। उनके अभिनय की मिसाल आज भी बंगाली सिनेमा में आने वाले हर नए एक्टर को दी जाती है।

आपको बता दें कि वह 85 साल की थीं। सुप्रिया देवी अपनी बेटी के साथ रहती थीं। बेटी ने कहा, ‘सुबह लगभग 6.20 बजे उनकी तबीयत बिगड़ी। वह उस समय बाथरूम में थीं। चिकित्सकों को बुलाया गया लेकिन उन्होंने उन्हें मृत घोषित कर दिया।’

गौरतलब है कि 8 जनवरी, 1933 को बर्मा (अब म्यांमार) के मिटकिना में जन्मी सुप्रिया देवी बांग्ला सिनेमा के स्वर्ण युग के प्रमुख कलाकारों में से एक थीं। पर्दे पर वह दिग्गज उत्तम कुमार और सुचित्रा सेन जैसे कलाकारों के साथ नजर आईं।

कला जगत में अहम योगदान देने के लिए सुप्रिया देवी को 2014 में पद्मश्री पुरस्कार और 2011 में बंग-विभूषण जैसे पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।
सुप्रिया की मौत पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी दुख व्यक्त किया।

अपने ट्वीट में ममता बनर्जी ने लिखा, ‘बंगाल की लेजेंडरी ऐक्ट्रेस सुप्रिया चौधरी (देवी) की मौत पर बहुत दुख है। हम उन्हें उनकी फिल्मों के जरिये याद रखेंगे। उनके फैन्स और परिवार से पूरी सहानुभूति है।’

आज भले ही वे हमारे बीच नहीं रहीं लेकिन अपने किरदारों और अभिनय के दम पर वे हमेशा फिल्मी दर्शकों के के मन और दिल में बसी रहेंगी।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
loading...