Print Friendly, PDF & Email



हाथरस : 13 मार्च। अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की शोकसभा रत्नगर्भा कालौनी पर आयोजित की गई। शोकसभा में कुशलपाल  सिंह, महासभा के राष्ट्रीय संयुक्त मंत्री मतेन्द्र सिंह गहलौत, जिलाध्यक्ष योगेन्द्र  सिंह गहलौत आदि ने कहा कि डाक्टर द्वारा लापरवाही के कारण भाजपा सांसद  प्रतिनिधि मुकेश पौरूष की जान चली गई। ऐसे डाक्टर का रजिस्ट्रेशन रद्द किया जाना चाहिये व डाक्टर की गिरफ्तारी होनी चाहिए। ऐसा नहीं होने पर क्षत्रिय महासभा आन्दोलन करने के लिये मजबूर होगी।

शोक व्यक्त करने वालों में सतीशचन्द पौरूष, विशम्भर सिंह (अधिवक्ता), रामवीर सिंह दादू (अधिवक्ता), श्रीमती लीलावती पुण्डीर, भंवर सिंह, लक्ष्मीराज सिंह, शेरपाल सिंह, प्रताप सिंह, देवराज सिंह, किशन राठौर एड., नवीन प्रताप सिंह, नरेन्द्र सिंह प्रधान, दिनेश सिंह, कप्तान सिंह, संदीप सिंह ठाकुर, रवेन्द्रपाल सिंह, संजय सिंह, रनवीर सिंह पौरूष, नितिन वर्मा, भारतेन्दुपाल सिंह, भीकमसिंह चौहान, गजेन्द्र सिंह, ठा. श्रीकृष्ण सिंह, मनोज पुन्डीर, नीलम चौहान, मोहनसिंह प्रधान, राजकुमार सिंह राघव, गिरीश सेंगर, प्रताप सिंह राघव, विवेक प्रताप सिंह, गौरव प्रताप सिंह, मास्टर सत्यपाल सिंह मदनावत, हरीबाबू राना, रनवीर सिंह पौरूष, नीरेश जादौन, विजय फौजी, डा. संदीप गहलौत, राजदीप गहलौत, बबलू ठाकुर आदि थे।

भाजपा सांसद राजेश दिवाकर के प्रतिनिधि मुकेश पौरूष की उपचार के दौरान आकस्मिक मृत्यु पर भारतीय जनता पार्टी में भारी शोक की लहर दौड़ गई है। भाजपा आईटी कार्यालय लहरा रोड पर भाजपा जिलाध्यक्ष रामवीर सिंह परमार की अध्यक्षता में शोकसभा हुई। शोकसभा में मुकेश पौरूष के निधन पर शोक प्रगट किया गया तथा  जिस डाक्टर के द्वारा इतनी बड़ी लापरवाही करने पर सभी भाजपाईयों ने रोष व्यक्त किया। वक्ताओं ने कहा कि पार्टी ने एक कर्मठ व ईमानदार कार्यकर्ता खो दिया। इसकी क्षति कभी पूरी नहीं की जा सकती। शोक प्रकट करने वालों में जिलाध्यक्ष रामवीर सिंह परमार, डा. एस.पी.एस. चौहान, सुनीता गुप्ता, रूपेश उपाध्याय, रामकुमार वर्मा, प्रेमपाल सिंह सोलंकी, धीरेन्द्र चौहान, ब्रजेश चौहान, डा. राजीव सिंह, राकेश कुशवाहा, प्रीती चौधरी, लक्ष्मण सिंह राजपूत, गौरव आर्य, मुकेश कौशिक, सुनील गौतम, नन्दिनी देवी, कामना शर्मा, मीरा माहेश्वरी, रामगोपाल बघेल, धर्मेश सेंगर, सुमित शर्मा, शिशुपाल सिंह पुन्डीर, सत्यपाल सिंह, कुसुमा देवी मदनावत, कोशलेन्द्र सिंह, संजय सक्सैना, सुनीता बघेल, संतोष पाथरे, मोहित सिसौदिया, तुलसीदास अग्रवाल, सतेन्द्र सिंह, राजेश शर्मा आदि हैं।

मुकेश पौरूष के निधन पर राष्ट्रीय मानव अधिकार संरक्षण समिति एवं राष्ट्रीय युवा हिन्दू वाहिनी ने गहरा शोक व्यक्त किया है। शोक व्यक्त करने वालों में युवा जिलाध्यक्ष माधव अग्रवाल, जिलाध्यक्ष प्रदीप गुप्ता, युवा जिला उपाध्यक्ष आकाश शर्मा, अनमोल वार्ष्णेय, शिवम् अग्रवाल, कृष्ण कुमार अग्रवाल, युगल अग्रवाल, निशू अग्रवाल, दीपक शर्मा, विकास सक्सैना, ज्योति रस्तोगी, गौरव शर्मा, अभिनव शर्मा, राहुल शर्मा, पुलकित जैन, सचिन शर्मा, गौरव अरोरा आदि हैं।

यह भी पढ़ें :  नेहरू युवा केंद्र ने चलाया दीवार लेखन एवं स्वच्छता जन जागरूकता अभियान

रावत कालौनी में हुई शोकसभा में मुकेश पौरूष के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया गया। शोक व्यक्त करने वालों में भाजपा नेता अजय रावत, राष्ट्रपति सम्मान प्राप्त रामबाबू चौहान, भगवती दीक्षित, नीरज रावत, रामदत्त शर्मा, विनोद कुमार पुन्डीर, सुरेन्द्र सिंह चौहान, वीरेन्द्र उपाध्याय, अवधेश कुमार, वीरेन्द्र सिंह चौहान, रामजीलाल आदि हैं।

आरोपी पिता-पुत्र डॉक्टरों को 3 दिन में गिरफ्तार करने की मांग 

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की बैठक आज समाज के संघर्षशील एवं वयोवृद्ध कुशलपाल सिंह पौरूष की अध्यक्षता में इगलास रोड रत्नगर्भा कालौनी में आयोजित की गई जिसमें नामजद आरोपी चिकित्सक पिता-पुत्र द्वारा क्षत्रिय समाज के प्रतिष्ठित युवा सांसद प्रतिनिधि मुकेश पौरूष का मा. सर्वोच्च न्यायालय के दिशा निर्देशों का जान बूझकर उल्लंघन करते हुए बगैर लाइसेंस के गलत व अवैध तरीके से एनेस्थिसिया (बेहोशी) का इंजेक्शन लगाने एवं लापरवाही पूर्वक किये गये इलाज से हुई मृत्यु होने पर सभा द्वारा भारी आक्रोश जताया गया और कार्यवाही की मांग को लेकर पुलिस कप्तान से भी मिलकर ज्ञापन सौंपा।

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने आरोप लगाते हुए कहा कि उक्त डॉक्टरों द्वारा काफी समय पूर्व से अनियमितता पूर्वक संचालित सरस्वती नर्सिंग होम (अस्पताल) में बरती जा रही अनियमितताओं की उच्च स्तरीय जांच कराये जाने तथा दोषी डाक्टरों के विरूद्ध अविलम्ब कठोर कानूनी कार्यवाही करते हुए गिरफ्तारी को लेकर मांग की गई साथ ही मांग की कि स्व. मुकेश पौरूष के इलाज में अनियमितता पूर्वक संचालित सरस्वती नर्सिंग होम बैनीगंज के संचालक डा. एम.सी. गुप्ता एवं उनके पुत्र सौरभ महेश गुप्ता की तीन दिन के अन्दर अविलम्ब गिरफ्तार कर जेल भेजा जाये, यदि उक्त मुकद्दमे के आरोपियों को तीन दिन के अन्दर गिरफ्तार कर जेल नहीं भेजा गया तो अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा आन्दोलनात्मक धरना-प्रदर्शन आदि कदम उठाने को बाध्य होना पडेगा, मृतक  मुकेश पौरूष के परिजनों को शासन की ओर से आर्थिक सहायता दिलाये जाने की कार्यवाही की जाये, उक्त पूरे प्रकरण की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की जाये, स्व. मुकेश पौरूष के परिवार से किसी भी व्यक्ति को सरकारी नौकरी दिलाई जाये।

यह भी पढ़ें :  रोज वैली घोटाला के मुख्य आरोपी की पत्नी के साथ दिखा जांच करने वाला ईडी अफसर

मांग करने वालों व बैठक में कुशलपाल सिंह पौरूष, जिलाध्यक्ष योगेन्द्र कुमार, भीकम सिंह चौहान, मतेन्द्र सिंह गहलौत एड., नीरेश सिंह जादौन, किशन सिंह राठौर (अधिवक्ता), श्रीकृष्ण सिंह (अधिवक्ता), राजेश सिसौदिया, सतीश पौरूष, रवेन्द्र पाल सिंह प्रधान, प्रताप सिंह राघव, विशम्भर सिंह (अधिवक्ता), भंवर सिंह पौरूष, नरेन्द्र सिंह, नवीन प्रताप सिंह, लक्ष्मीराज सिंह, दिनेश पाल सिंह, देवराज सिंह, संदीप ठाकुर, मनोज पुण्ढीर, सत्यपाल सिंह, वीर सिंह पौरूष, नितिन वर्मा, गिरीश कुमार सेंगर, गजेन्द्र सिंह पौरूष, विजय सिंह, शेरपाल सिंह, हरिबाबू राणा, कप्तान सिंह पौरूष, भारतेन्दु पाल सिंह, रामगोपाल सिंह, मोहन सिंह, राजकुमार सिंह, दिनेश तौमर, हरवीर सिंह तौमर, सुरेन्द्र जादौन, रामवीर सिंह दादू एड., मनोज सिसौदिया एड., गौरव प्रताप प्रधान, लाखन सिंह, सुभाषचन्द्र, लोकेन्द्र सिंह, टरमेश सेंगर (अधिवक्ता), इशरार, राजेश सिंह आदि लोग थे।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓