Print Friendly, PDF & Email

मुंबई
गामी फिल्म ‘मंटो’ के लिए ऋषि कपूर, गुरदास मान और जावेद अख्तर ने मेहनताने के तौर पर एक पैसा नहीं लिया है। अभिनेत्री और फिल्मकार नंदिता दास का कहना है कि जीवन में पैसे से आगे भी बहुत कुछ है। फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दीकी उर्दू लेखक सआदत हसन मंटो का किरदार निभा रहे हैं। नवाज ने मेहनताने के तौर पर सिर्फ एक रुपया लिया है।

नंदिता ने बताया कि, ‘‘यह एक ऐसा किरदार है जिसके लिए कोई कलाकार अपना एक हाथ और पैर दे सकता है। फिर भी, इसके लिए नाममात्र मेहनताना भी नहीं लेने के लिए मैं नवाज की शुक्रगुजार हूं।’’ कई प्रसिद्ध कलाकार भी सिर्फ फिल्म का सहयोग करने के लिए छोटे किरदार करने के लिए राजी हो गए।

उन्होंने कहा, ‘‘ऋषि कपूर और गुरदास मान ने हमारी पहली बैठक में ही मंजूरी दे दी। मैंने फिल्म के किरदारों के साथ न्याय करने वाले अन्य कलाकारों से संपर्क करने के लिए अपनी जान पहचान और साख का इस्तेमाल किया और काम करने के लिए राजी किया।’’ अभिनेता परेश रावल ने उनके साथ ‘फिराक’ के बाद अब ‘मंटो’ में काम किया है। नंदिता ने कहा, ‘‘राजनीतिक रूप से, हमारे मतभेद (परेश रावल से) हो सकते हैं, लेकिन एक कलाकार के तौर पर आपसी सम्मान होता है और मैं सच्चे दिल से उनकी आभारी हूं कि उन्होंने संपूर्णता के साथ अपना किरदार निभाया।’’

वरिष्ठ गीतकार जावेद अख्तर के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘मैं जावेद अख्तर को ‘फायर’ से भी पहले से जानती हूं। और, मेरा यह हमेशा से मानना रहा है कि कैमरे के सामने वे संपूर्ण होंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप उन्हें एक नए अवतार में देखेंगे। जावेद साब की तरह नहीं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘विश्वास कीजिए, जीवन में पैसे से बढक़र भी बहुत कुछ है। मैंने भी ऐसी कई परियोजनाओं पर काम किया है और कभी भी आर्थिक लाभ लेने के बारे में नहीं सोचा।’’ फिल्म में रणवीर शौरी, दिव्या दत्ता, पूरब कोहली, राजश्री देशपांडे और स्वानंद किरकिरे जैसे कलाकारों ने भी काम किया है।
(आईएएनएस)

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓