Print Friendly, PDF & Email

“आपके अंदर मेरे लिए गुस्सा है, आपके लिए मैं पप्पू हूं, आप मुझे अलग-अलग गाली दे सकते हैं। लेकिन मैं आपके ख़िलाफ़ जरा सा भी गुस्सा, क्रोध या नफ़रत नहीं रखूंगा क्योंकि मैं कांग्रेस से हूं। ये भावना हमारे अंदर है और आपके अंदर से नफ़रत की भावना निकालूंगा।” : राहुल गांधी

 

 

 

.नई दिल्ली (नेशनल डेस्क)।
लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस की तरफ से सबसे पहले राहुल गांधी ने अपनी बात रखी। सदन में अपने भाषण की शुरुआत करते ही राहुल गांधी ने जुमलों की बात की। राहुल गांधी ने बीजेपी की सरकार को जुमले वाली सरकार करार दिया। राहुल गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान के युवाओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर विश्वास नहीं है। राहुल गांधी ने कहा कि ये सरकार सिर्फ झूठे वादे करती है और पूरा देश जुमला स्ट्राइक का शिकार है।
पहला जुमला : 15 लाख हर बैंक अकांउट में।
दूसरा जुमला : 2 करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार।
तीसरा जुमला : GST लागू करके करोड़ों दुकानदारों को बर्बाद किया।
चौथा जुमला : रक्षा मंत्री का झूठ।
पांचवा जुमला : प्रधानमंत्री चौकीदार नहीं, भागीदार हैं।
छठा जुमला : सैनिकों को प्रधानमंत्री का धोखा।
सातवां जुमला : देश की जनता के लिए पीएम के दिल में जगह नहीं है।
आठवां जुमला : किसान सूट नहीं पहनते इसलिए कर्ज माफी नहीं होती।
नौवां जुमला : MSP की बढ़ोत्तरी जुमला स्ट्राइक।
दसवां जुमला : दलित, महिला और आदिवासी कुचले जा रहे हैं, मारे जा रहे हैं, लेकिन पीएम चुप हैं।

अपने भाषण के दौरान राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर तीखा वार करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री चंद 10-20 उद्योगपतियों के लिए काम करते हैं, देश के गरीबों के लिए उनके दिल में कोई जगह नहीं है। देश में दलितों, आदिवासिओं और महिलाओं पर लगातार हमले हो रहे हैं लेकिन पीएम मोदी इन घटनाओं पर कुछ नहीं बोलते हैं। राहुल गाँधी ने आगे कहा कि महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधों के कारण पूरी दुनिया में भारत की छवि घूमिल हुई है लेकिन प्रधानमंत्री मौन धारण किए हुए हैं। राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री से पूछा कि क्या इस देश के आदिवासी, दलित और महिलाएं उनके नहीं हैं?

राहुल गांधी ने यह भी कहा कि वे मोदी, बीजेपी और आरएसएस के आभारी हैं क्यूंकि उनकी वजह से वे जान पाए कि असली कांग्रेस क्या है और साथ ही असली हिन्दू कौन है? राहुल गांधी ने आगे कहा कि “मैं आपके लिए मजाक का विषय हो सकता हूँ, मैं आपके लिए “पप्पू” हो सकता हूँ लेकिन आप लोगों के प्रति मेरे मन में बहुत प्यार है।”

जब राहुल गांधी प्रधानमंत्री पर सीधा-सीधा वार कर रहे थे तब सदन में मौजूद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कानों में हेडफोन लगाए अपनी जगह पर बैठ कर खिलखिलाकर हंस रहे थे। अपना भाषण खत्म कर राहुल गांधी प्रधानमंत्री मोदी के पास गए और उनको गले लगा लिया। प्रधानमंत्री को शायद इस बात का अंदेशा नहीं था कि राहुल गांधी अचानक अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उनको गले लगा लेंगें।

भाषण खत्म करके प्रधानमंत्री मोदी के पास जाकर उनको गले लगाते हुए राहुल गांधी। (तस्वीर : लोकसभा टीवी से लाइव प्रसारण के दौरान ली गई स्क्रीनशॉट ) 

कुछ क्षण के लिए प्रधानमंत्री असमंजस की स्थिति में आ गए, फिर उन्होंने गले मिलकर लौट रहे राहुल गांधी को अपने पास बुलाया और उनका पीठ थपथपाया। चेहरे के भाव से ऐसा लग रहा था कि राहुल गांधी के इस मास्टर स्ट्रोक से प्रधानमंत्री कुछ देर के लिए सकते में आ गये।


“पूरे देश ने अभी देखा है। मैंने प्रधानमंत्री के बारे में साफ-साफ बोला है और प्रधानमंत्री अपनी आंख मेरी आंख में नहीं डाल सकते हैं। सच्चाई है। कभी इधर देख रहे थे। कभी उधर देख रहे थे। देश को समझ आ गई है बात।” : राहुल गांधी

 

राहुल गांधी के भाषण में प्रधानमंत्री पर किए गये 10 सीधे हमले : 
1. प्रधानमंत्री चंद 10-20 उद्योगपतिओं के लिए काम करते हैं।
2. देश के गरीबों के लिए प्रधानमंत्री के दिल में कोई जगह नहीं है।
3. महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधों के कारण पूरी दुनिया में मोदी सरकार की छवि घूमिल हुई है।
4. क्या इस देश के प्रधानमंत्री इस देश के आदिवासी, दलित और महिलाएं के नहीं हैं?
5. दलित, महिला और आदिवासी कुचले जा रहे हैं, मारे जा रहे हैं, लेकिन पीएम चुप हैं।
6. MSP की बढ़ोत्तरी एक जुमला स्ट्राइक है।
7. किसान सूट नहीं पहनते इसलिए कर्ज माफी नहीं होती।
8. सुरक्षा घेरे से बाहर क्यूँ नहीं निकल पाते हैं प्रधानमंत्री?
9. मुझसे आँख नहीं मिला सकते हैं पीएम नरेन्द्र मोदी?
10. प्रधानमंत्री चौकीदार नहीं, भागीदार हैं।

(संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान की दो यादगार तस्वीरें – बायीं तस्वीर में राहुल गांधी ने अपना भाषण खत्म करने के बाद अपनी सीट पर बैठ कर किसी को मुस्कुराते हुए आंख से कुछ इशारा कर रहे हैं और दाहिनी तस्वीर में वे अपने भाषण के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से उनकी सीट पर जाकर गले मिल रहे हैं)

जियो के इश्तिहार पर पीएम का फोटो आता है। बड़े-बडे कारोबारी के दिल में पीएम मोदी बसते हैं  लेकिन नरेंद्र मोदी के दिल में गरीबों और कमजोरों के लिए दिल में थोड़ी सी भी जगह नहीं है। : राहुल गांधी

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓