Print Friendly, PDF & Email

आपने फिल्म विकी डोनर तो देखी होगी जिसमें एक शख्स अपने स्पर्म डोनेट कर कई बच्चों का पिता बन जाता है। अब असल जिन्दगी में भी एक विकी डोनर देखने को मिला है जो फेसबुक के जरिये अपने स्पर्म डोनेट करता है और अब तक करीब 22 बच्चों का पिता बन चुका है।

यकीन नहीं आता तो खुद ही जान लीजिये। एक शख्स पर गैर कानूनी तरीके से फेसबुक पर अपने स्पर्म का विज्ञापन दे 22 बच्चों का पिता बनने का आरोप है। ग्लास्गो में रहनेवाले इस 39 वर्षीय शख्स ने खुदपर लगे आरोपों को मान भी लिया है।

आपको बता दें कि ऐंथनी फ्लेचर (बदला हुआ नाम) ने बताया कि जो महिलाएं बच्चे के लिए तरसती थीं, वह उनको अपने घर के पास बुलाता था और अपना स्पर्म देता था। हालांकि, वह इसके लिए पैसे नहीं लेता था।  फ्लेचर ने बताया कि उसने करीब 50 महिलाओं को स्पर्म डोनेट किया जो पूरे यूनाइटेड किंगडम से उसके पास सिर्फ एक बच्चे की उम्मीद में पहुंची थीं।

इतना ही नहीं फ्लेचर कहते हैं कि उन्हें 5 साल पहले ही यह प्रेरणा मिली कि वह उन महिलाओं को मुफ्त में स्पर्म मुहैया करवाकर मदद कर सकते हैं जिन्हें बच्चा नहीं हो रहा है। हालांकि, डॉक्टरों ने फ्लेचर की इस हरकत को बेहद खतरनाक करार दिया है।

बता दें कि शुरुआत में, फ्लेचर ने एक क्लिनिक के जरिए कानूनी तौर पर अपना स्पर्म डोनेट करना शुरू किया था। हालांकि, इस प्रक्रिया से जन्में किसी भी बच्चे को अपने पिता की पहचान तब बताई जाती है जब वह 18 साल का हो जाए। इसलिए फ्लेचर ने अपने स्पर्म को फेसबुक पर बेचना शुरू कर दिया।

गौरतलब है कि यूनाइटेड किंगडम में ह्यूमन फर्टिलाइजेशन ऐंड एम्ब्रायोलजी अथॉरिटी के लाइसेंस के बिना शुक्राणु और अंडे दान देना अवैध है। फ्लेचर ने फेसबुक पर लिखा, ‘मैं एक सक्रिय और अनुभवी स्पर्म डोनर हूं। ग्लास्गो से कुछ मील की दूरी पर रहता हूं। मैं अभी भी महिलाओं को गर्भवती होने में मदद कर सकता हूं। सिंगल महिलाओं, समलैंगिक जोड़ों और विषमलैंगिक संबंधों में रह रही महिलाओं को स्पर्म डोनेट करने में मुझे खुशी होगी।’

अप देखना है कि कहीं इन्हें जेल की हवा न खानी पड़े।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓