प्रतीकात्मक चित्र
Print Friendly, PDF & Email

चाईबासा, झारखंड
चाईबासा के मंझारी इलाके में एक पंचायत में तुगलकी फरमान सुनाया गया है। दरअसल एक व्यक्ति ने अपनी 13 साल की भतीजी से दुष्कर्म किया जिसके बाद वह गर्भवती हो गई। इस मामले को लेकर गांव में महापंचायत बुलाई गई। महापंचायत ने 28 साल के आरोपी रोबिन को दुष्कर्म का आरोपी माना और जिसके बाद रेप के आरोपी और पीड़िता दोनों पर पांच लाख का जुर्माना लगाकर उन्हें जिंदा जलाने का फरमान सुना दिया गया।

एसपी क्रांति कुमार ने पूरे मामले को गंभीर बताते हुए एसडीपीओ अमर कुमार पांडेय को जांच करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि यह काफी गंभीर और संवेदनशील मसला है। लिहाजा इसकी जांच कराई जा रही है। आरोपियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मामला उजागर होने के बाद कुछ हफ्ते पहले भी गांव में पंचायत बुलाई गई थी, लेकिन रोबिन कुंकल पंचायत में पेश नहीं हुआ।

आरोपी के परिजन भी उसे बेकसूर बताते रहे। साथ ही वे ऐसी किसी भी घटना की जानकारी से इनकार करते रहे। इसके बाद आदिवासी हो समाज युवा महासभा और सेंया मसकल महिला समिति सामाजिक सहयोग संस्था सामने आई। मंगलवार को इस मामले में गांव में महापंचायत हुई, जिसमें यह फैसला लिया गया।

मंगलवार शाम करीब 5 बजे गांव में महापंचायत लगाई गई। आदिवासी हो समाज युवा महासभा के पदाधिकारी और ग्रामीण मुंडा भी इसमें शामिल हुए। आरोपी रोबिन को भी महापंचायत में बुलाया गया। उसने जुर्म कबूला। फरमान जारी करने से पहले आदिवासी हो समाज युवा महासभा के जिलाध्यक्ष गब्बरसिंह हेम्ब्रम ने फैसले को पढ़कर सुनाया। हो समुदाय की परंपराओं पर चर्चा करते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति समाज से बढ़कर नहीं है।

ग्रामीणों के मुताबिक, रोबिन का करीब 3 साल से पीड़ित के घर पर आना-जाना था। करीब दो साल से रोबिन पीड़िता के घर में रहने लगी। इसी बीच रोबिन ने डरा-धमकाकर छठी कक्षा में पढ़ने वाली 13 साल की भतीजी के साथ दुष्कर्म किया।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓