Print Friendly, PDF & Email

चतरा, झारखंड
गध-आम्रपाली कोल परियोजना में लेवी वसूली का मास्टरमाइंड सुभान मियां को एनआईए की टीम ने गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय जांच एजेंसी(एनआईए) ने सुभान मियां को रांची से गिरफ्तार किया है। इसे एनआईए के लिए बड़ी कामयाबी मानी जा रही है। सोमवार को एनआईए ने सुभान को विशेष अदालत में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

एनआईए उससे पूछताछ करेगी। एनआईए ने झारखंड में टेरर फंडिंग से संबंधित केस आरसी 6/18 दर्ज किया है। एनआईए चतरा के टंडवा में दर्ज कांड संख्या 22/18 समेत अन्य कांडों का अनुसंधान भी आरसी 6/18 के तहत ही कर रही है।

सुभान मियां टंडवा थाना क्षेत्र के कामता गांव का रहने वाला है। वह भाकपा माओवादी के सशस्त्र दस्ते का सक्रीय सदस्य और सीसीएल का ड्राईवर रह चुका है। खबरों के अनुसार एनके एरिया पिपरवार में टीपीसी के मुकेश गंझू व भीखन गंझू के जरिए सुभान लेवी वसूला करता था।

सुभान मियां ने लेवी वसूलने के लिए पांच कमेटियों के अलावा टीपीसी उग्रवादियों की छठी कमिटी बनाई थी। वह पुलिस, उग्रवादियों व सीसीएल के बीच एक कड़ी का काम करता था।

लेवी से सुभान मियां ने खूब कमाई की थी। पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक, सुभान मियां ने कमता में एक करोड़ का घर, आम्रपाली में एक लोडर, एक टाटा पोकलेन लिया था। रांची में भी उसने 15 डिसमिल जमीन खरीदी थी। कोल परियोजनाओं में लेवी वसूलने के मामले में सुभान से पहले टीपीसी के बिंदु गंझू और कोहराम की गिरफ़्तारी हो चुकी है।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓