Print Friendly, PDF & Email

खेल को खेल भावना के साथ ही खेलना चाहिए, इसमें हार जीत होती ही रहती है लेकिन प्रीती जिंटा अपनी हार से इस कदर बौखला गयी कि उन्होंने वीरेंद्र सहवाग को ही खरी खोटी सुना डाली।

बता दें कि सहवाग पिछले 5 साल से किंग्स इलेवन पंजाब की फ्रैंचाइजी से जुड़े हुए हैं और प्रीति जिंटा, नेस वाडिया और बिजनसमैन मोहित बर्मन इस फ्रैंचाइजी के मालिक हैं। सूत्रों के अनुसार, प्रीति के बात करने के लहजे और तीखे आरोपों से वीरेंदर सहवाग  इतने आहत हैं कि वह पंजाब की टीम के साथ चल रहे 5 साल पुराने संबंध को खत्म कर सकते हैं।

फ्रैंचाइजी से जुड़े सूत्रों ने बताया कि अश्विन को करुण नायर और मनोज तिवारी जैसे खिलाड़ियों से पहले नंबर 3 पर भेजने को लेकर प्रीति ने सहवाग की रणनीति पर आपत्ति जताई। अश्विन इस मैच में शून्य के स्कोर पर वापस लौट गए।

इतना ही नहीं सूत्रों ने बताया, ‘प्रीति ने इस फैसले और हार को लेकर सारा दोष सहवाग पर मढ़ दिया और पूर्व बैट्समैन पर जमकर भड़ास निकाली।’ सूत्रों ने हमें यह भी बताया कि शुरुआत में सहवाग ने प्रीति से बेहद सौम्य अंदाज में बात की और उन्होंने समझाने की कोशिश की।

पंजाब फ्रैंचाइजी से जुड़े कुछ बेहद करीबी लोगों का कहना है कि टेस्ट क्रिकेट में 2 तिहरे शतक और वनडे में भी दोहरा शतक लगा चुके वीरेंदर सहवाग और प्रीति जिंटा के बीच सब कुछ ठीक नहीं है। करीबी सूत्रों ने बताया कि सहवाग के फैसलों और काम पर प्रीति ने पहली बार आपत्ति दर्ज नहीं की है। विस्फोटक बल्लेबाज अपने काम में प्रीति की दखलंदाजी की वजह से बहुत नाराज हैं।

फ्रैंचाइजी से जुड़े सूत्र ने बताया, ‘वीरेंदर सहवाग ने दो टूक अंदाज में टीम के दूसरे मालिकों से कह दिया है कि वह प्रीति जिंटा के ऐक्टिंग वाले नखरे नहीं बर्दाश्त नहीं करेंगे। वह को-ओनर प्रीति के सवाल-जवाब और उनके फैसलों पर लगातार आपत्ति उठाने के तरीकों से असहज हैं।’

आपको बता दें कि यह कोई पहली बार नहीं है जब प्रीति का टीम के कोच या मेंटॉर से तनाव हुआ हो। इससे पहले 2016 में भी पंजाब के हेड कोच संजय बांगड़ पर अपना गुस्सा निकालने को लेकर प्रीति मीडिया में सुर्खियां बटोर चुकी हैं। हालांकि, उस वक्त भी उन्होंने इस किस्से को झूठ करार देते हुए सारा दोष मीडिया पर मढ़ दिया था।

अगर यही हाल रहा तो प्रीति जल्द ही इस गेम से बाहर हो सकती हैं।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓