Print Friendly, PDF & Email



हाथरस की हाथरस जंक्शन कोतवाली क्षेत्र के गांव नगला आलिया में  चचेरे भाई-बहन की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।  ग्रामीणों का कहना है कि दोनों  ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी ।

दरवाजा तोड़कर दोनों के शवों को बाहर निकाला गया। सूचना मिलने के काफी देर बाद  मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया ।

हाथरस जंक्शन के गांव नगला अलिया निवासी राकेश व रविकांत चचेरे भाई हैं। राकेश के बेटे शिवम (17) व रविकांत की बेटी संतोषी (15) की मौत चर्चा  विषय बन  गई है।

कुछ ग्रामीणों की माने तो मंगलवार की दोपहर किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। इस बात पर राकेश ने दोनों को डांट दिया, इस डांट से क्षुब्ध दोनों ने खुद को एक कमरे में बंद कर लिया। परिजनों ने इस बात पर ज्यादा गौर नहीं किया।

अंदर गुस्से में दोनों ने एक दुपट्टे के दो टुकड़े किए और  कमरे में दो पंखे थे, एक से शिवम ने फांसी लगा ली तथा दूसरे से संतोषी ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली  कमरे से अजीब से आवाजें आने पर परिवार के लोगों ने कमरा खोलने का प्रयास किया, लेकिन अंदर से बंद था। जंगले से देखा तो दोनों पंखे से लटके हुए थे।

यह देख घर में चीख-पुकार मच गई। आसपास के लोग भी एकत्रित हो गए। सब ने मिलकर कमरे का दरवाजा तोड़ा तथा दोनों को तत्काल नीचे उतारा, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। शिवम व संतोषी को प्राइवेट अस्पताल भी ले जाया गया, लेकिन उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

संदिग्ध परिस्थितियों में युवक यवती की मौत की सूचना पहुंचे पत्रकारों को खबर बनाने से रोक दिया गया। सूचना पर एसएचओ हाथरस जंक्शन जगदीशचंद्र मौके पर पहुंचे। एएसपी डॉ.अर¨वद कुमार भी घटना स्थल पर आए था तथा छानबीन की।

एएसपी डा. अरविन्द  कुमार ने कहा कि अभी कोई कम्प्लेंट नहीं हुई है, दोनों के शव को पोस्ट मार्टम के लिए भेजदिया है जांच की जा रही है , जांच और  पीएम रिपोर्ट देखने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
loading...