Print Friendly, PDF & Email

मर्णिकर्णिका का रोल कर रही कंगना को रानी लक्ष्मीबाई के किरदार में हर कोई देखना चाहता है। इनके लिए उनकी तैयारी भी जोर शोर से चल रही है। वे कई बार सेट पर घायल भी हो चुकी हैं।

अब खबर है कि कंगना एक और बायोग्राफी फ़िल्म में काम करने की तैयारी में हैं। इस बार उनकी बायोग्राफी कोई पीरियड ड्रामा न होकर रियाल लाइफ एडवेंचर पर बेस्ड होगी।

कंगना को जिस दूसरी बायोपिक के लिए अप्रोच किया गया है, वो कहानी है अरुणिमा सिन्हा की । सूत्रों की मानें तो कंगना की मर्णिकर्णिका फिल्म की शूटिंग खत्म होने में अभी लगभग 60 दिन बाकी हैं। दिसंबर में शूटिंग खत्म होने के बाद कंगना इस फिल्म को साइन कर सकती हैं, और फिर डॉयरेक्टर भी फाइनल हो जाएगा।

अरुणिमा का राष्ट्रीय स्तर की वॉलीवॉल खिलाड़ी के रूप में पहचान बनाने में कामयाब हो गई । लेकिन 11 अप्रैल 2011 को एक भयानक हादसे ने हमेशा-2 के लिए अरूणिमा की जिंदगी को बदल कर रख दिया ।

वो पद्मावत एक्सप्रेस से लखनऊ से दिल्ली आ रही थी,कि कुछ लुटेरों ने ट्रेन में उसे लूटने की कोशिश की , जिसका विरोध करने पर लुटेरों ने अरूणिमा को चलती ट्रेन से बाहर फेंक दिया ।

जिससे ट्रेन के पहिए के नीचे पैर आने से अरूणिमा के एक पैर को काटना पड़ा और दूसरे पैर में लोहे की रॉ़ड लगाई गई । इस घटना ने अरूणिमा को शारीरिक और मानसिक रूप से ही नहीं बल्कि पूरे समाज को तोड़ दिया था।

अरूणिमा ने मौत और जिंदगी के बीच झूलते हुए कभी हार नही मानी। पूरे 4 महीने नई दिल्ली के ऑल इंडिया इंस्टीयूट मेडिकल ऑफ सांइस में बिताने के बाद जब अरूणिमा को अगस्त 2011 में अस्पताल से छुट्टी मिली तो उसने एक ऐसा फैसला परिवार को सुनाया । जिसे सुनकर सब दंग रह गए ।

अरूणिमा ने अपने हादसे को भुला कर आगे बढ़ते हुए अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद घर न जाकर विश्व की सबसे ऊंची चोटी मांउट एवरेस्ट को फतह करने का फैसला किया । अब तक कोई भी विकलांग व्यक्ति मांउट एवरेस्ट को फतह नहीं कर पाया था ।

यह भी पढ़ें :    तुम्हारी सुलु : हवा हवाई साड़ी वाली भाभी

अब इस कहानी को कंगना करेंगी तो जाहिर है फ़िल्म का सुपरहिट होना तय है। बेस्ट ऑफ लक कंगना।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓