(सिल्ली की नवनिर्वाचित विधायक सीमा देवी से बात करते हुए हिंद वॉच झारखण्ड के सह-संपादक कुमार कौशलेन्द्र)
Print Friendly, PDF & Email



हिंद वॉच मीडिया झारखण्ड टीम के साथ पतराहातू (सिल्ली विधानसभा क्षेत्र) से लौटकर कुमार कौशलेन्द्र

सिल्ली से राहे तक झामुमो समर्थकों की भीड़ जगह-जगह अपने नवनिर्वाचित एमएलए सीमा देवी के स्वागत में झंडे, फूलों की माला, गुलाल और मिठाई के डिब्बों के साथ 1 जून की दोपहर से ही खड़ी दिखी। बुजुर्गों, महिलाओं और युवाओं के बीच हाथ जोड़ कर मतदाताओं का आभार का व्यक्त करने सिल्ली विधानसभा क्षेत्र के राहे प्रखंड स्थित पतराहातू गाँव में स्थानीय लोगों के बीच पहुंची नवनिर्वाचित विधायक सीमा देवी।

शाम के करीब सात बजे का समय था। मांदर, ढ़ोल-नगाड़े और डीजे की धुन पर थिरकते और नारे लगाते उत्साही समर्थकों की भीड़। हवा में शिबू सोरेन जिंदाबाद, हेमंत सोरेन जिंदाबाद, सीमा देवी जिंदाबाद, अमित महतो जिंदाबाद के नारे गूँज रहे थे। पारंपरिक गीतों पर नाचते-गाते समर्थकों की भारी भीड़ के साथ पतराहातू बाज़ार स्थित हाई स्कूल से गाँव के मंदिर तक सीमा देवी पैदल चलकर गयीं। सूरज डूब चुका था और अँधेरे में डूबे पतराहातू का माहौल उत्सव जैसा हो चला था। सीमा देवी ने स्थानीय धार्मिक स्थल पर माथा टेकने के बाद जश्न मनाते समर्थकों और ग्रामीणों को संबोधित किया। सबसे पहले माईक पर क्षेत्र के पूर्व विधायक अमित महतो ने कहा कि “भाइयों, माताओं और बहनों, आपकी विधायक सीमा देवी महतो आप से दो शब्द कहना चाहती हैं।” इसके बाद सीमा देवी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि “आप सब को प्राणाम। मैं तो आप की बेटी हूं और आपने अपनी बेटी का साथ दिया है। आप सबों का हार्दिक आभार। आपका साथ आगे भी मिलता रहेगा ना?” एकबारगी महिला-पुरुषों की आवाज गूंजने लगती है – हाँ, जरूर मिलेगा।

(अपने पति और सिल्ली के पूर्व विधायक अमित महतो के साथ नवनिर्वाचित विधायक सीमा महतो पतराहातू गाँव में हिंद वॉच मीडिया से बात करते हुए) (तस्वीर : हिंद वॉच मीडिया )

सभा का समापन “सीमा देवी जिंदाबाद, सीमा देवी हम तुम्हारे साथ हैं” जैसे नारों के उद्घोष  के साथ हुआ। कमोबेश यही सिलसिला राहे-पतराहातू बाजार और आस-पास के अन्य गांवों में जारी रहा। कहीं नवनिर्वाचित विधायक आभार के साथ भावी विकास योजनाओं के क्रियान्वयन की बात करती दिखीं तो कहीं अपने पति अमित महतो के साथ हुई विपक्षी साजिश की कहानी बयान कर खुद को मिले समर्थन का आभार व्यक्त करती दिखीं। पहली बार विधायक चुनी गयी झामुमो की सीमा देवी कभी बुजुर्ग महिलाओं के पांव छूकर आशीर्वाद लेती तो कभी छोटे बच्चों के गाल छूकर स्नेह देती हुई अपने पति और क्षेत्र के पूर्व विधायक अमित महतो के साथ क्षेत्र के अनेक गाँवों में मतदाताओं का आभार व्यक्त करने में जुटी रहीं। जनसंवाद के दौरान आत्मविश्वास और उत्साह से लबरेज दिखीं सीमा देवी ।

यह भी पढ़ें :  शिबू सोरेन बरी लेकिन कहां गया उनका सचिव शशिनाथ झा?

सिल्ली की सियासत में लगातार हुए दूसरे उलटफेर के बाद जनता की नब्ज टटोलने पहुंची हिंद वॉच मीडिया झारखण्ड की टीम ने जन आभार हेतु पहुंची सीमा देवी का पतराहातू के एक नुक्कड़ पर साक्षात्कार किया। प्रस्तुत है सिल्ली की नवनिर्वाचित विधायक सीमा देवी से हिंद वॉच की बातचीत का मुख्य अंश :

हिंद वॉच : आपकी अपनी जीत का श्रेय किसे देंगीं?
सीमा देवी : “यह मेरी नहीं, सिल्ली की जनता की जीत है। ये जीत मेरे पति पूर्व विधायक अमित महतो द्वारा क्षेत्र की जनता के बीच किए गए कार्यों की जीत है। मेरे पति और जनता जनार्दन ने साथ दिया, इसीलिए मैं जीत पाई हूं। झामुमो की नियत और नीति को जनता ने हाथों–हाथ लेते हुए विजय का आशीर्वाद दिया है। इस जीत के लिए अपने पति के साथ–साथ मेरी सास और माता-पिता ने भी काफी मेहनत की और अब मैं अपने पति के अधूरे कार्यां को पूरा करने का प्रयास करूँगीं।”

हिंद वॉच : वर्तमान विधानसभा के शेष डेढ़ साल बचे हैं, इस दौरान बतौर विधायक आपकी प्राथमिकताएं क्या होंगीं?
सीमा देवी : “अगले डेढ़ साल के लिए सिल्ली को लेकर मेरी प्राथमिकता क्षेत्र की मूलभूत सुविधाओं को दुरुस्त करना होगा, जहां बिजली-पानी की व्यवस्था नहीं है, वहां उसकी व्यवस्था करेंगे। सारे रुके हुए कार्यों को पूरा करना है।”

हिंद वॉच : आमतौर पर यह देखा गया है कि सिल्ली विधानसभा क्षेत्र स्थित प्रखंडों और अन्य शासकीय दफ्तरों में तैनात हाकिमों और कर्मचारियों के मुख्यालय से नदारद रहने से जनता को बहुत परेशानी होती है, इस समस्या से निपटने के लिए आप क्या करेंगीं?

यह भी पढ़ें :  नवनिर्वाचित विधानसभा सदस्य बबिता व सीमा ने ली शपथ
(तस्वीर : हिंद वॉच मीडिया)

सीमा देवी : “रांची में रहकर सिल्ली इलाके में नौकरी बजानेवाले लोगों को हर-हाल में जहां वे तैनात हैं, उसी मुख्यालय में रहना पड़ेगा। मुख्यालय में रहकर जनसमस्या निपटाने की आदत डाल लें हाकिम नहीं तो उनके खिलाफ कार्रवाही की जाएगी। जनता की सेवा के लिए हाकिमों और कर्मचारियों को तत्पर रहना पड़ेगा और उनकी मुख्यालय में न रहने की आदत अब उनको महंगी पड़ेगी। मेरे पति अमित महतो भी इसी हेतु प्रयासरत रहे तो एक साजिश के तहत उन्हें आपराधिक मामले में फंसाया गया ताकि उनकी विधायकी चली जाए। जनता की अदालत ने उक्त साजिशकर्ताओं को सबक सिखा दिया है और मुझे अपार समर्थन देकर जिताया है, इसलिये जनसमस्याओं के निदान करने के लिए मुझे जो भी उपयुक्त एक्शन लेना पड़े, मैं लूंगी। बहुत कम समय में पूर्व विधायक अमित महतो ने क्षेत्र की जनता का न सिर्फ दिल जीता, बल्कि विकास की एक नई इबारत लिख डाली, इसी से घबराकर उन्हें फंसाया गया और विधायकी छीन ली गई लेकिन सिल्ली की जनता ने साजिश करनेवालों को सियासी अखाड़े से बाहर का रास्ता दिखा दिया। मुझे पूरा भरोसा है कि माननीय उच्च अदालत में भी अमित महतो बेदाग साबित होंगे।”

हिंद वॉच : स्थानीय कस्तुरबा विधालय व अन्य बालिका विधालयों में संसाधनों और शिक्षकों की कमी हैं, आप इस दिशा में क्या कदम उठाएंगीं?
सीमा देवी : “मैं क्षेत्र की बालिकाओं की शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए हरसंभव कदम उठाउंगीं। विधानसभा के पटल से लेकर जिस भी उचित फोरम पर लड़कियों की शिक्षा के लिए आवाज बुलंद करना पड़े, मैं पीछे नहीं हटूंगी। मैं सिल्ली के विकास हेतु अमित महतो द्वारा आरंभ किए गए हर योजना और कार्य को इस बचे हुए अल्पावधि में पूरा करने की दिशा में काम करूँगीं।”

हिंद वॉच : सिल्ली की एक बेटी के साथ रांची में हुए कथित बलात्कार के बाद गला घोंटकर और जलाकर निर्मम हत्या मामले की निष्पक्ष जांच हेतु आपके पति और क्षेत्र के पूर्व विधायक अमित महतो ने केन्द्रीय गृह मंत्री से मुलाकात की थी। इस मामले में सीबीआई जांच की अनुशंसा के बावजूद कार्रवाही में विलंब हो रहा है। इस मामले की तेजी से जांच और दोषियों को सजा दिलाने के लिए आप क्या करेंगीं?
सीमा देवी : यह मामला मेरे ध्यान में है और मैं इसको लेकर गंभीर प्रयास करूंगी। जांच निष्पक्ष और बिना विलंब  के पूरी होनी चाहिए। मैं भरोसा दिलाती हूँ कि इस मामले में दोषियों पर न्यायोचित कार्यवाही होगी।”

हिंद वॉच : आप झारखण्ड में विपक्षी एकता का क्या भविष्य देखती हैं?

यह भी पढ़ें :  आरएसएस अपने विचार देश पर थोपना चाहता है : सीताराम येचुरी
(तस्वीर : हिंद वॉच मीडिया)

सीमा देवी : “जिस तरह से इस बार सिल्ली और गोमिया के उपचुनाव में विपक्षी दलों ने एकजुटता दिखाई है, इससे मुझे लगता है कि झारखण्ड में विपक्ष एक अहम भूमिका निभाने के लिए तैयार है। इसमें कोई शक नहीं है कि झारखण्ड में एक मजबूत विपक्ष की कमी महसूस हो रही थी, इसका सबसे बड़ा कारण राज्य में विपक्ष का बिखरा होना था। मुझे पूरा यकीन है कि जिस तरह विपक्ष की एकता ने उपचुनाव में जीत दिलायी है, उसी तरह आगे भी झारखण्ड में विपक्ष पहले की तुलना में मजबूत भूमिका में होगा।”

 

हिंद वॉच : आपने अपने विजय जुलुस में गाँव के नुक्कड़ पर हिंद वॉच मीडिया को साक्षात्कार के लिए समय दिया, इसके लिए धन्यवाद।
सीमा देवी : आपका भी धन्यवाद।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓