Print Friendly, PDF & Email



देश में इन दिनों मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर बवाल मचा हुआ है। हिंदूवादी नेताओं ने एएमयू अलीगढ विश्व विधालय में जिन्ना की तस्वीर लगी होने का विरोध किया जिसके बाद हिन्दूवादियों और एमएमयू अलीगढ के छात्र आमने सामने आ गये और जमकर बवाल हुआ।

इसी बीच जिन्ना की तस्वीर को लेकर राजा महेंद्र प्रताप के वंशज सामने आये और एएमयू अलीगढ विश्वविधालय को लेकर ठोंकी ताल। कहा कि एएमयू की जमीन को राजा महेंद्र प्रताप ने दान में दिया था।

उन्होंने कहा कि बाबा साहब ऐसी शैक्षिक संस्थाएं दी थी, जब लोग शिक्षा संस्थान के बारे में जानकारी नहीं रखते थे। अलीगढ में रेवन्यू में आज भी राजा महेंद्र प्रताप स्टेट में दर्ज है उसमे से एक बड़ा हिस्सा अलीगढ़ विश्वविधालय को दिया जिससे उसका विकास हुआ।

राजा होने के वावजूद उन्होंने देश की आज़ादी में एक बड़ा योग दान दिया ,एएमयू को जमीन देना उसका निर्माण करवाना बहुत बड़ा योग दान है जिन संगठनों ने एएमयू कैम्पस में स्तम्भ लगाने की माँग की है उनका समर्थनकर्ता हूँ और में माँग करता हूँ कि राजा महेंद्र प्रताप की एक प्रतिमा एएमयू के अंदर लगनी चाहिए।

उन्होंने ये भी कहा कि एएमयू में पढ़ने के लिए आने वाले छात्रों को ये भी जानकारी होनी चाहिए कि एएमयू को जमीन देकर इसको बनाने में किसका योगदान है और उन्होंने देश के हितो में क्या क्या किया, राजा महेंद्र प्रताप के नाम देश में डाक टिकट भी जारी हुआ था।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓

यह भी पढ़ें :  लव हार्मोन का कृत्रिम वर्जन