Print Friendly, PDF & Email

रांची, झारखंड
ला संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा झारखंड में पहली बार राष्ट्रीय स्तर का कला के क्षेत्र में पहली बार कोई संस्थान खोलने जा रहा है। भारत सरकार ने बोकारो जिले के चंदनकियारी में छऊ नृत्य परीक्षण एवं अनुसंधान केंद्र(एकेडमी) खोलने का निर्णय लिया है।

एकेडमी चंदनकियारी के रविंद्र भवन में शुरुआती दौर में आरंभ होगा। जिसका उद्घाटन मंत्री अमर बावरी के द्वारा 8 अक्टूबर को किया जाएगा। इस अवसर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष संगीत नाटक अकेडमी के शेखर सेन एवं रांची विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो रमेश कुमार पांडेय उपस्थित होंगे।

झारखंड की संस्कृति में छऊ नृत्य की विशेष पहचान है। यह राजकीय नृत्य के रूप में झारखंड में स्थापित है। छऊ निरसा झारखंड के आसपास राज्यों बंगाल, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल इलाकों में मुख्य रूप से संस्कृति संस्कृतिक विरासत के रूप में शामिल है।

झारखंड सरकार के कला एवं संस्कृति मंत्री अमर बाउरी ने बताया कि राज्य की विशेष पहचान वाला छऊ नृत्य राष्ट्रीय स्तर पर पहचान स्थापित करें। इस उद्देश्य भारत सरकार ने इस नृत्य को पहचान दिलाने की पहल करते हुए बोकारो के चंदनक्यारी में छऊ नृत्य अकेडमी खोलने का निर्णय लिया है। एकेडमी में नृत्य के साथ साथ राज्य के लोगों को इसका परीक्षण एवं अनुसंधान करने का अवसर प्रदान करेगी।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓