Print Friendly, PDF & Email

रांची: झारखण्ड के 21 जिलों के अनुसूचित जाति बाहुल्य 252 गांवों को चिन्हित किया गया है, जिसमें ग्राम स्वराज अभियान चलाया जाएगा। राज्य के मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने सभी जिलों के उपायुक्तों को इस अभियान में पूरी गम्भीरता से भाग लेने और शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने का निर्देश दिया।

देशभर के 21058 गांवों में यह अभियान चलेगा। झारखण्ड के 252 गांव जिनमें मुख्य रूप से पलामू के 70, चतरा के 38, गढ़वा के 32, धनबाद के 18, लातेहार के 17, हजारीबाग के 14, बोकारो के 13, देवघर के 13, गिरिडीह के 12 गांव सम्मिलित हैं। अनुसूचित जाति बाहुल्य 252 गांवों में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, सौभाग्य (प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना), उजाला योजना, प्रधानमंत्री जन-धन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना तथा मिशन इंद्रधनुष योजना से शत प्रतिशत लाभुकों तक अच्छादित करने का निर्देश दिया गया है।

मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने कहा कि इन योजनाओं में चिन्हित गांवों की वर्तमान स्थिति का आंकलन कर 14 अप्रैल से 5 मई तक अभियान चलाकर शत प्रतिशत अच्छादित करें। इस अभियान का उद्देश्य है- सामाजिक समन्वय स्थापित करना, सबसे गरीब परिवार तक अपनी पहुंच बनाना और उनके मनोभावों को समझना। मुख्य सचिव ने यह भी निर्देश दिया गया है कि राज्य के सभी 24 जिलों में निम्नांकित कार्यक्रम तिथिवार चलाए जाएं-

14 अप्रैल-    सामाजिक न्याय दिवस
18 अप्रैल-    स्वच्छ भारत दिवस
20 अप्रैल-    उज्ज्वला दिवस
24 अप्रैल-    राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस
28 अप्रैल-    ग्राम स्वराज दिवस
30 अप्रैल-    आयुष्मान भारत दिवस
2 मई    –    किसान कल्याण दिवस
5 मई    –    आजीविका दिवस

मुख्य सचिव ने निर्देश दिया कि 14 अप्रैल को भारत रत्न डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती सामाजिक न्याय दिवस के  रूप में मनायी जाए। देश के प्रधानमंत्री समस्त राष्ट्र को सम्बोधित करेंगे, जिसका सीधा प्रसारण किया जाएगा।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓