Print Friendly, PDF & Email



शहरी विकास मंत्रालय द्वारा जारी स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 में झारखण्ड को बेस्ट परफार्मिंग स्टेट का प्रथम पुरस्कार मिला है। झारखण्ड ने महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ को पछाड़ते हुए पहला स्थान प्राप्त किया है। स्वच्छ सर्वेक्षण में रांची को बेस्ट स्टेट कैपिटल इन सिटीजन फीडबैक में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है।

वही गिरिडीह (1-3 लाख आबादी) को बेस्ट सिटी इन सिटीजन फीडबैक का पुरस्कार मिला। जोनल लेवल पुरस्कार (एक लाख से कम आबादी) में पूर्वी क्षेत्र में झारखण्ड के नगरों को चार में से तीन पुरस्कार प्राप्त हुए। इसमें बुंडू को ईस्ट जोन के सबसे क्लीन सिटी, पाकुड़ को बेस्ट सिटी इन इनोवेशन एंड बेस्ट प्रैक्टिसेज और चाईबासा को बेस्ट सिटी इन सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का पुरस्कार मिला।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 के प्रतिस्पर्धा में शामिल देश के 4041 शहरों में झारखंड को बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट घोषित किया गया है। इस मामले में महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ जैसे राज्य झारखंड से पीछे हैं।

शहरों के प्रदर्शन के आधार पर केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने नयी दिल्ली में बुधवार को विभिन्न कैटेगरी में स्वच्छ सर्वेक्षण अवाॅर्ड की घोषणा की। इसमें इंदौर को एक बार फिर सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है। इस मामले में भोपाल और चंडीगढ़ क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं।

वर्ष 2017 के स्वच्छ सर्वेक्षण में  झारखंड को देश में तीसरा स्थान प्राप्त हुआ था। वर्ष 2016 में राज्य की रैंकिंग बहुत नीचे थी। देश भर के राज्यों की राजधानी की स्वच्छता रैंकिंग में सिटीजन फीडबैक के मामले में झारखंड की राजधानी रांची अव्वल रही।

यह भी पढ़ें :  तो इसलिए रद्द हुई है मोदी-राहुल की चुनावी रैली

एक लाख से तीन लाख तक की आबादी वाले शहरों में सिटीजन फीडबैक के मामले में झारखंड का गिरीडीह जिला शीर्ष स्थान पर रहा। वहीं, वही देश के इस्ट जोन में एक लाख से कम आबादी वाले शहरों में झारखंड के बुंडू को क्लीनेस्ट सिटी घोषित किया गया है।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
loading...