Print Friendly, PDF & Email

सासनी। सन् 2015 में आठ बोट से हारे प्रत्याशी द्वारा हाईकोर्ट में जीते प्रत्याशी को लेकर फिर से मतगणना कराने की याचिका दायर की तो हाईकोर्ट ने पुनः मतगणना के आदेश दिए। जिसमें जीते प्रधान को पुनः अधिक मत प्राप्त होने पर विजयी घोषित कर दिया।

बता दें कि सन् 2015 में 13 दिसंबर को प्रधानी चुनाव होने के बाद मतगणना की गई थी। जिसमें गांव खिटौली के प्रधानपद की मतगणना के बाद कुसुमा देवी को 548 और रजनी देवी को 539 बोट मिले जिसमें रजनी देवी के कहने पर पुनः मतगणना की गई, और कुसमा देवी को विजयी घोषित करते हुए प्रधान प्रमाण पत्र दे दिया गया। मगर रजनी देवी ने अपनी हार स्वीकार नही की और हाईकोट में याचिका दायर कर दी कि मतगणना में गडबडी की गई है।

काफी अर्से बाद हाईकोर्ट ने भी मतगणना के लिए पुनः आदेश जारी कर दिए। जिसे लेकर टीम गठित की गई और तहसील परिसर में मतगणना की गई। जिसमें कुसुमा देवी को 548 और रजनी देवी को पुनः 539 वोट मिले।

जिसे लेकर फिर से कुसुमा देवी को पुनः ग्राम प्रधान चुन लिया गया। टीम में आरओ एचएन सिह, एआरओ सत्यवीर सिंह, विकास खंड अधिकारी धनीराम शर्मा, खंड शिक्षाधिकारी अखिलेश यादव, अधिशासी अधिकारी रमा दुबे मौजूद रहे।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓





SHARE
पिछली खबरअकेलेपन का एहसास (संस्मरण)- दिनकर बेडेकर
अगली खबर फिल्म और टीवी के मशहूर खलनायक शिवा का नया वेंचर
नीरज चक्रपाणी उत्तर प्रदेश के हाथरस में सक्रीय पत्रकारिता कर रहे हैं। रिपोर्टिंग का लम्बा अनुभव रखने वाले नीरज ने अनेक प्रतिष्ठित मीडिया सस्थानों के साथ काम किया है। नीरज हिंद वॉच मीडिया के लिए हाथरस से नियमित तौर पर स्वतंत्र एवं स्वैच्छिक रूप से रिपोर्टिंग करते रहे हैं। सटीक, निर्भीक और प्रमाणिक जमीनी पत्रकारिता उनकी विशेषता है। हिंद वॉच मीडिया समूह जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रहा है। साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल, वेब चैनल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता और निडरता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाने के लिए हिंद वॉच मीडिया पूरी समर्पण से काम करता है। भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है।