खाली पड़ा ओपीडी (तस्वीर : हिंद वॉच)
Print Friendly, PDF & Email

ग्रासरूट रिपोर्टर धर्मेन्द्र पंडा की रिपोर्ट
सिमडेगा, झारखंड
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोलेबिरा में ओपीडी के दौरान तैनात चिकित्सा कर्मी ड्यूटी के दौरान अस्पताल में ना रहकर बाहर प्रैक्टिस करते हैं। इससे अस्पताल में आने वाले दूरदराज के रोगियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ओपीडी में आए हुए काफी रोगियों को अस्पताल में चिकित्सक नहीं रहने के कारण घंटों मशक्कत व इंतजार करने के बाद भी मायूस होकर बिना जांच एवं चिकित्सा कराए वापस घर जाना पड़ा।

ईलाज के इन्तजार कर रही बच्चियां (तस्वीर : हिंद वॉच)

इस संबंध में पड़ताल की गई तो अस्पताल पहुंचे बच्चियों ने बताया कि वह काफी देर से चिकित्सक का इंतजार कर रहे हैं लेकिन घंटो बीत जाने के बाद भी ओपीडी में कोई भी चिकित्सक नहीं आए, जिससे बिना जांच कराएं वापस घर जाने को मजबूर हैं। इस पर ड्यूटी के अनुसार तैनात चिकित्सक की खोजबीन की गई तो चिकित्सक कहीं अन्यत्र प्राइवेट क्लीनिक में बैठे हुए पाए गए।

सबसे हैरत की बात तो यह है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोलेबिरा राष्ट्रीय उच्च पथ पर स्थित है। यहां कभी भी दुर्घटना घटित होने पर जिंदगी से जूझते हुए रोगियों एवं घायलों को लाया जाता है, किंतु चिकित्सक हमेशा नदारद रहते हैं जिससे लोगों को चिकित्सकों को ढूंढने में ही काफी समय लग जाता है एवं रोगियों की जान खतरे में पड़ जाती है इस स्थिति से निपटने के लिए कई बार लोग विभाग से गुहार लगा चुके हैं किंतु वही ढाक के तीन पात।

सभी चिकित्सक प्राइवेट क्लीनिक में अपना प्रैक्टिस करने में मशगूल है। रोगियों की सेवा देना यह मुनासिब नहीं समझते। ऐसी स्थिति में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोलेबिरा भगवान भरोसे चल रहा है। स्थानीय ग्रामीणों ने उपायुक्त एवं सिविल सर्जन सिमडेगा से अस्पताल में ड्यूटी रोस्टर के अनुसार चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित करने की मांग की है ताकि दूर दराज से आने वाले ग्रामीणों को सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं के साथ साथ चिकित्सा लाभ प्राप्त हो सके।
पोस्टल पिन कोड 835201 835211 835212 835223 835226 835228

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓