(फाइल फोटो)
Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली (नेशनल डेस्क)।
जमीन घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने रॉबर्ट वाड्रा को भूमि सौदा मामले में समन जारी कर पेश होने के लिए कहा है। इससे पहले भी वर्ष 2017 में बीकानेर जमीन घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय रॉबर्ट वाड्रा के करीबियों के यहां छापेमारी कर चुका है। जिन लोगों पर छापेमारी हुई है उनमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के करीबी महेश नागर और अशोक कुमार भी शामिल हैं। दरअसल, बीकानेर में 270 बीघा जमीन 79 लाख में खरीदी गई और इसके बाद तीन साल में 5 करोड़ में बेच दी गई। इसी को लेकर ईडी ने यह छापेमारी की थी।

वहीं हरियाणा के गुरुग्राम में एक जमीन खरीद-फरोख्त के मामले में कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा के खिलाफ केस दर्ज कर किया गया था। इस मामले में सीबीआई ने हुड्डा और 33 अन्य लोगों के खिलाफ 1500 करोड़ रुपए से अधिक के मानेसर जमीन सौदे में कथित भ्रष्टाचार के मामले में आरोप पत्र दायर किया था जो गुड़गांव के मानेसर, नौरंगपुर और लखनौला गांवों के जमीन सौदों से संबंधित था। बीजेपी ने राबर्ट वाड्रा को निशाना बनाते हुए 2014 के चुनाव में इस जमीन सौदे को एक बड़ा मुद्दा बनाया था।

अभी यह साफ़ नहीं हुआ है कि प्रवर्तन निदेशालय ने किस मामले में रॉबर्ट वाड्रा को समन भेजा है। वाड्रा ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखकर कहा है कि राजस्थान चुनाव से पहले लोगों को ध्यान भटकाने के लिए यह भाजपा का ‘प्लान बी’ है। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रदेश में सरकार चलाने में नाकाम रही है। वाड्रा ने अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा है, ‘राजस्थान चुनाव के कुछ दिन पहले पूरी तरह से झूठे और संभवत: सरकार द्वारा लीक किए गए आरोपों पर आधारित सवालों की फेहरिस्त अचानक मुझे भेजी जा रही है। गौर करने वाली बात है कि इनमें से ज्यादत्तर मुद्दे अदालत में लंबित हैं। क्या ये एक महज संयोग है कि सरकार की कुछ एजेंसियां ऐसे मुद्दों को उठा रही हैं, जिनका मेरे से कोई नाता नहीं है, या सालों पहले मैं उन पर प्रतिक्रियाएं दे चुका हूं या फिर उन पर पिछले चार साल से मैं पूरी तरह से सहयोग कर रहा हूं।’

अभी तक कांग्रेस पार्टी ने प्रवर्तन निदेशालय द्वारा रॉबर्ट वाड्रा को समन भेजे जाने पर अभी तक कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दिया है।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓