प्रातीकत्मक चित्र
Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली
सीबीआई ने सोमवार को एजेंसी के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना से जुड़े रिश्वत मामले के संबंध में अपने उप पुलिस अधीक्षक देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया। अस्थाना पर व्यापारी मोइन कुरेशी के मामले में 2 करोड़ रुपये का रिश्वत लेने का आरोप है, जिसका नाम कई मनी लॉंडरिंग और भ्रष्टाचार के मामलों में आ चुका है। कुमार, जो कुरेशी मामले में जांच अधिकारी थे, पर मामले में एक प्रमुख गवाह सतीश साना के बयान को रिकॉर्ड करने में जाली का आरोप लगाया गया है।

अस्थाना ने अगस्त में आरोप लगाया था कि मामले में राहत पाने के लिए साना ने वर्मा को 2 करोड़ रुपये का भुगतान किया था। सीबीआई ने दावा किया कि कुमार ने केन्द्रीय सतर्कता आयुक्त को सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ अस्थाना द्वारा किए गए आधारहीन आरोपों की पुष्टि करने के लिए कहा है।

इस महीने की शुरुआत में, सीबीआई ने मामले में पहली सूचना रिपोर्ट दायर की थी। इसके अलावा शिकायत में बाहरी खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग के विशेष निदेशक सामंत कुमार गोयल का भी नाम है लेकिन अभी तक उन पर आरोप नही थी। एजेंसी ने टेलीफोन इंटरसेप्ट्स, व्हाट्सएप संदेश, एक मनी ट्रेल और एक संदिग्ध बिचौलियों का बयान प्रस्तुत किया है।

आपको बता दे कि अक्टूबर 2017 में अस्थाना को सीबीआई में नियुक्त किया था। आपको बता दे कि इन नियुक्तियों को लेकर कई सवाल खड़े हुए थे, जिसके बाद कॉमन कॉज नाम की एक संस्था ने सुप्रीम कोर्ट में एक मामला दर्ज किया गया था।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓