Friday, February 23, 2018

युद्ध स्मारकों को जातीय चश्में से न देखा जाए

नया साल हर तीन सौ पैंसठ दिनों के बाद आ जाता है लेकिन 2018 के पहले दिन को हम इस लिहाज से अलग कह...

भीमा कोरेगांव मामले में मीड़िया और प्रशासन का भगवा चेहरा हुआ...

भीमा कोरेगांव में 1 जनवरी को हुई हिंसा ने फिर से दुनिया को आजाद भारत की मीड़िया और राज्य व केन्द्र सरकार का रंग...

रणनीतिक रूदाली है मोदी सरकार का पाकिस्तान पर क्रोध

संसद में भारत की विदेशमंत्री सुषमा स्वराज का भावनात्मक भाषण, जिसे देश में भक्तगण मंत्री का मार्मिक क्रंदन बता रहे हैं, वह उकसावे और...

पुलिस, परिवहन और निगम का भ्रष्टाचार भी दिल्ली में बढ़ा रहा...

दिल्ली की आबोहवा में सांस लेना मुसीबत को दावत देना बनता जा रहा है। ग्रीन ट्रिब्यूनल से लेकर हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट तक लगातार...

चुप रहकर क्यूँ सहना, मैंने तो मनचले की खाल नोंच ली...

लड़कियों प्रतिरोध करो, जायरा को चीखना चाहिए था। सिर आसमान पर उठा लेना चाहिए था। कोई आपको मोलेस्ट कर रहा है, तब आप चुप...

दासत?के विरुद्?एक समान मुखर थे महात्म?ज्योतिबा फुले और बाबा साहब

Ready to build innovative IoT solutions that rethink the FUTURE? WE CAN. Our goal is 1000 times BTC Founded at Harvard University,Atrl is...

विश्व शौचालय दिवस पर भारतीय संस्कृति के “शीर्षासन मॉडल” की भी...

यहाँ जिन लोगों को ब्रह्मपुरुष के मस्तिष्क ने जन्म दिया उनका मस्तिष्क कोइ काम नहीं करता, भुजाओं से जन्मे लोगों की भुजाओं में लकवा...

स्मॉग से पहले मानसिक प्रदूषण दूर करें

कहते हैं कि वर्तमान की हर त्रासदी और आपदा के बीज गुज़रे ज़माने के गर्भ में छिपे होते है और इनका प्रभाव भविष्य में...

दिल्ली के दमघोंटू हालात से निपटने की अगंभीर सरकारी कोशिशें

सात नवंबर की रात से दिल्ली व उसके आसपास घना स्मॉग क्या छाया, तमाम लोगों ने सारा दोष पंजाब-हरियाण के किसानों के पराली जलाने...

क्यूँकि बिलकीस बानो निर्भया नहीं है

इस वर्ष मई के पहले सप्ताह में बहुचर्चित बिलकिस बानो केस का निर्णय आ गया। इत्तेफ़ाकन उसी सप्ताह में एक अन्य चर्चित केस निर्भया...
Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com