Print Friendly, PDF & Email

चंडीगढ़, पंजाब
फिरोजपुर के ममदोट पुलिस स्टेशन में बीएसएफ के 29वीं बटालियन में बतौर ऑपरेटर काम कर रहे जवान शेख रियाजउद्दीन के खिलाफ पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उसके पास से दो मोबाइल फोन और 7 सिम कार्ड बरामद किए हैं।

रियाजुद्दीन मूलत: महाराष्ट्र के लातूर का रहने वाला है और बीएसएफ के 29वीं बटालियन में बतौर ऑपरेटर काम कर रहा था। शेख रियाजुद्दीन के खिलाफ ऑफिसियल सीक्रेट एक्ट 1923 और नेशनल सिक्योरिटी एक्ट 1980 के तहत यह मामला दर्ज किया गया है।

बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट की लिखित शिकायत के बाद आरोपी जवान शेख रियाजुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। शिकायत में बताया गया है कि आरोपी जवान ने सरहद की तारबंदी, सडक़ों के वीडियो और बीएसएफ यूनिट के अधिकारियों के मोबाइल नम्बर पाकिस्तान में बैठे अपने हैंडलर को दिए हैं।

रियाजुद्दीन फेसबुक, फेसबुक मैसेंजर और मोबाइल के माध्यम से सारी सूचनाएं पाकिस्तान इंटेलिजेंस के एक ऑपरेटर मिर्जा फैसल को भेजा करता था। गिरफ्तार किए गए बीएसएफ जवान को रविवार को कोर्ट में पेश किया गया। फिरोजपुर के थानाधिकारी रणजीत सिंह ने बताया कि बीएसएफ जवान अप्रेल, 2017 से आईएसआई एजेंट के सम्पर्क में था और उसने उसे संवेदनशील जानकारी दी।

फ़िलहाल के दिनों में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जब भारतीय सेना में जासूसी करते पकडे गये हैं। पिछले महीने डीआरडीओ का एक कर्मचारी जासूसी के आरोपों में पकड़ा गया था, वहीं मेरठ के एक जवान को लेकर भी ऐसा ही मामला सामने आया था।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓