Print Friendly, PDF & Email

सिर झुकाना सिर्फ नैतिक तौर पर ही गलत नहीं है बल्कि शारीरिक तौर पर भी यह आदत आपको जीवन भर का दर्द और मर्ज दोनों दे सकती है। दरअसल आजकल के युवा स्मार्टफोन के कितने शौकीन और आदी हैं यह बताने की जरूरत नहीं है।

तकनीक के साथ कदमताल करना खैर आज की जरूरत भी है लेकिन जरूरत जब आदत बन जाये तो यह बीमारी बनते देर नहीं लगाती। आज स्मार्टफोन तो सब इस्तेमाल करते हैं लेकिन इस्तेमाल करने का तरीका कितना गलत होता है यह कोई नहीं देखता।

हम में से कई लोगों की दुनिया आजकल स्मार्टफोन्स में बसने लगी है। लेकिन क्या आप जानते हैं, आपका हर समय फोन देखते रहना आपकी रीढ़ की हड्डी को कितना नुकसान पहुंचा रहा है?

जो लोग फोन का इस्तेमाल करते समय लगातार सर को झुकाए रखते हैं वे सावधान हो जाएं। आजकल ‘टेक्सट नेक’ नाम की बीमारी काफी आम हो गई है। एक सामान्य मानव सिर का वजन 4.5 किलो से 5.4 किलो तक होता है। जब भी हम फोन देखने के लिए गर्दन नीचे करते हैं, गुरुत्वाकर्षण के कारण सिर पर पड़ने वाला स्ट्रेस लगभग 27 किलो तक हो जाता है।

इससे सर्वाइकल स्पाइन के कर्व को काफी नुकसान पहुंचता है। यह स्वास्थ की अन्य परेशानियों का भी कारण बन सकता है।

आपकी बॉडी पॉस्चर का असर आपके मूड, व्यवहार और दिमाग पर भी पड़ता है। बार-बार झुकने से आप ज्यादा डिप्रेस हो सकते हैं। इन समस्याओं से बचना काफी आसान है। बस, आपको ध्यान देना है कि आप सीधे खड़े हों।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि हर समय फोन में व्यस्त होने की आदत लोगों को वास्तविकता से दूर ले जाती है। इतना ही नहीं फोन के लिए सिर नीचे करने की आदत हमारी कम्यूनिकेशन स्किल्स को भी खराब करती है।

अगर समय रहते यह आदत नहीं बदली तो जान लीजिए आगे चलकर आप हमेशा नजे सर्फ गर्दन ने दर्द से परेशान रहेंगे बल्कि जीवन भर अस्वस्थ भी रहेंगे।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓