Print Friendly, PDF & Email

अलीगढ़
सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के हंदवाड़ा में बुधवार को तीन आतंकियों को एनकाउंटर में मार मार गिराया था। मारे गए आतंकियों में मन्नान बशीर वानी भी शामिल था जो कि एएमयू में शोध विद्यार्थी था। इसी दौरान पढ़ाई छोडक़र हिज्बुल आतंकी संगठन में शामिल हो गया था। मन्नान वानी के मारे जाने सूचना के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के केनेडी हॉल में लगभग 15 छात्र एकत्रित हुए। उन्होंने वानी के लिए यहां नमाज पढऩा प्रारंभ किया।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी(एएमयू) ने आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के शीर्ष कमांडर मन्नान बशीर वानी के जनाजे की नमाज पढऩे का प्रयास करने के आरोप में तीन कश्मीरी छात्रों को निलम्बित कर दिया। यूनिवर्सिटी के प्रॉक्टर मोहसिन खान ने बताया कि तीनों छात्रों ने अनुशासनहीनता करते हुए इन छात्रों ने विश्वविद्यालय के नियमों का अवहेलना करते हुए गैरकानूनी तरीके से सभा बुलाई।

तीन विद्यार्थियों को निलम्बित करने के अलावा चार छात्रों को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है। इन चार छात्रों पर निलम्बित छात्रों का समर्थन करने का आरोप है। छात्रों का शैक्षणिक रिकॉर्ड निकलवाया जा रहा है। प्रशासन ने साफ कर दिया है कि राष्ट्रविरोधी गतिविधियां विश्वविद्यालय परिसर में बर्दाश्त नहीं होगी।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓