Print Friendly, PDF & Email



अखिल भारतीय रोबोटिक्स और स्वचालन परिषद, यानी एआईसीआरए ने बुधवार को नई दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में भारत का पहला स्टेम शिखर सम्मेलन प्रस्तुत किया।

एआईसीआरएएम स्टेम शिखर सम्मेलन-2018 भारत में रोबोटिक्स शिक्षा के परिदृश्य और उद्योग के साथ इसकी सिंक्रनाइजेशन के बाद एक अनुशासनिक वैश्विक एवं अति-पारिस्थितिकीय घटना है।

इस कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों से प्रसिद्ध व्यक्तियों में प्रमुख अतिथि वैज्ञानिक अनुसंधान डॉ. राजीव शर्मा भी शामिल थे। वह विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के तकनीकी मिशन डिवीजन के प्रमुख और वैज्ञानिक ‘जी’ और हैं।

उनके अलावा कार्यक्रम में एआईसीआरए के अध्यक्ष राज शर्मा, वित्तीय प्रमुख भावना शर्मा, अनुभाग अधिकारी चरणजीत कौर समेत और कई लोग मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि शिखर सम्मेलन का आयोजन भारत में रोबोटिक्स शिक्षा को बेहतर बनाने और रोबोटिक्स अनुसंधान एवं करियर के विकल्पों के लिए एक खुले द्वार के सुधार के लिए सामूहिक लक्ष्य को बढ़ाने के साथ पारंपरिक मान्यताओं को तोड़ने, ज्ञान का विस्तार करने और सहयोग बढ़ाने के लिए किया गया है।

ग्रैंड समिट के पीछे का मकसद देश की शीर्ष इंजीनियरिंग और विज्ञान प्रतिभा की अविश्वसनीय तकनीकी उपलब्धियों का जश्न मनाना है।

एआईसीआरएएम स्टेम शिखर सम्मेलन एसईईएम अनुसंधान के सभी क्षेत्रों में बढ़त के विकास की जानकारी प्रदान करता है, जिसमें बेंच टू बेडसाइड, अनुप्रयोगों, नियमों, उत्पाद विकास और एसटीईएम कोशिकाओं का व्यावसायीकरण शामिल है।

शिखर सम्मेलन में रोबोटिक्स शिक्षा परिदृश्य, उद्योग स्वचालन प्रक्रिया, सरकारी नियमों और स्वचालन कार्यान्वयन और अन्य प्रासंगिक विषयों पर नीतियों को उजागर करने के लिए प्रस्तुतिकरण, पैनल और राउंड-टेबल चर्चाएं शामिल थीं।

यह विशिष्ट भविष्य के अनुभव का एक प्रमुख निर्माण है, जहां सभी प्रतिभागियों को आगे बढ़ने का प्र्याप्त अवसर मिलेगा।

यह भी पढ़ें :  देश में हाई अलर्ट: महातूफान से 13 राज्यों में खतरा, अगले 48 घंटे हैं खतरनाक

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓