Print Friendly, PDF & Email



देश में आये दिन बलात्कार की घटनाओं में कमी के बजाये इजाफा देखा जा रहा है, कठुआ और उन्नाव की घटना के बाद उठे आक्रोश और विरोध की लहर से ऐसा लगा था कि बलात्कार की घटनाओं में कमी आयेगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

गौरतलब है कि हरियाणा के मेवात जिले से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। रविवार की रात में आठ लोगों ने 16 साल की एक लड़की का कथित रूप से अगवा करके रेप किया जिसके बाद पीड़िता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

आपको बता ददें कि 12वीं क्लास की छात्रा सोहना के करीब नूह के खोर बोसाई गांव में रहती थी। घटना वाले दिन उसके माता-पिता रिश्तेदार के यहां गए हुए थे, वह घर पर अकेली थी। पुलिस के मुताबिक, उसी गांव के आठ आदमी दो बाइक और एक कार पर आए। वे लोग लड़की को जबरन उठाकर ले गए। लड़की का गैंग रेप करके उनलोगों ने पीड़िता को सोमवार की सुबह में उसके घर के बाहर छोड़ दिया।

अगर पुलिस की मानें तो पुलिस ने बताया कि सभी आठों आरोपियों की पहचान हो गई है और उनके खिलाफ रेप, अपहरण और आत्महत्या के लिए उकसाने एवं पोक्सो ऐक्ट की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। लेकिन रिपोर्ट लिखने के समय तक किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है।

पुलिस के मुताबिक, रविवार को करीब 12 बजे आरोपियों ने लड़की का अपहरण कर लिया और सुनसान स्थान पर ले जाकर उसके साथ बलात्कर किया। सोमवार को लड़की के एक चचेरे भाई ने उसे घर के बाहर पाया जहां आरोपी उसे छोड़ गए थे। भाई ने पीड़िता की मदद की और उसके माता-पिता को फोन किया। बाद में लड़की के परिवार और कुछ आरोपियों के बीच झगड़ा हो गया। इसके बाद लड़की के पिता ने पुलिस को शिकायत दर्ज कराई और अपहरण एवं रेप का मामला दर्ज किया गया।

गांव के सूत्रों का कहना है कि आरोपी ‘असरदार परिवार’ के हैं और वे लोग लड़की के पिता पर केस खत्म करने के लिए दबाव बना रहे हैं जिसकी वजह से उनके बीच झगड़ा हुआ। बाद में जब 3 बजे के करीब लड़की के परिजन घर लौटे तो उसे मृत पाया। उनलोगों ने बताया कि जब पीड़िता घर पर अकेली थी तो उसने आत्महत्या कर ली। पीड़िता के पिता ने कहा, ‘हम उसे घर पर अकेली छोड़ने के लिए खुद को दोषी समझ रहे हैं। हम चाहते हैं कि आरोपी को मौत की सजा मिले।’

रोजका मेव थाने के एसएचओ इंस्पेक्टर जयभान त्यागी ने बताया, ‘पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है। अभी आरोपी फरार हैं लेकिन उनको जल्द सलाखों के पीछे भेज दिया जाएगा।’ नूह जिले की एसपी नाजनीन भासिन ने बताया, ‘हमारी टीमें आरोपियों को दबोचने के काम पर लगी हुई हैं।’

इस देश में बलात्कार के इस दंश को कैसे रोका जाए इसका अब तक ठोस हल न तो सरकार के पास दिखा है और न पुलिस के पास, यह बहुत शर्मनाक है।

इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया ⇓
loading...